क्या मोदी के चौकीदार ने अनुराग कश्यप की बेटी को रेप की धमकी दी

0
1363
अनुराग कश्यप Anurag Kashyap
Anurag Kashyap Twitters, Picture Credit- Asianet News

अब जब नरेंद्र मोदी फिर से प्रचंड बहुमत के साथ प्रधानमंत्री बन गए है तो उनके फैन भी उसी जोश के साथ लोगों को ट्रोल कर रहे है और अपने आप को वफादार पेश कर रहे है परन्तु ये फैन पहले बक्त कहलाते थे और अब यह चौकीदार कहलाते है और एक चौकीदार ने तो मोदी विरोधियों को जवाब देना भी शुरू कर दिया. एक चौकीदार ने फिल्म मेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) की बेटी को रेप करने की धमकी भी दे डाली.

अनुराग ने जब नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए बताया की उनकी बेटी को किस तरह के massage भेजे जा रहे है तो प्रोडूसर अशोक पंडित अनुराग से भिड़ने की कोशिश करने लगे परन्तु बाद में अर्बन नक्सल की हरकत बताकर चुप हो गए.

सुना है कि अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) नरेंद्र मोदी के आलोचक है. इसलिए वो बीजेपी समर्थकों की ट्रोलिंग हिट लिस्ट हैं. इसलिए अनुराग की बेटी को इस बार निशाना बनाया गया. और उस पर भी फिल्म इंडस्ट्री के लोग नरेंद्र मोदी का बचाव करने और अनुराग को ही गलत ठहराने में लगे हुए हैं.

अनुराग ने 23 मई की रात एक ट्वीट किया. इसमें उन्होंने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनने और चुनाव जीतने की बधाई तो दी साथ ही एक स्क्रीनशॉट के साथ बताया की उनके समर्थक उनके परिवार को निशाना बना रहे है.

इसके बाद सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई और अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) के इस ट्वीट पर कई मोदी समर्थकों ने कहा कि इस आदमी ने जो किया है वो गलत है. परन्तु कुछ ऐसे भी लोग है जो गलत को भी सही साबित करने की कोशिश करते है. और वो आप ही देख लीजिये…

फिल्ममेकर और इंडियन फिल्म एंड टेलीविज़न डायरेक्ट्स असोसिएशन (IFTDA) के अध्यक्ष अशोक पंडित ने अनुराग की इस ट्वीट को कोट करते हुए एक ट्वीट किया.

”ये अकाउंट फोटोशॉप की मदद से बनाया हुआ लगता है क्योंकि ढूंढ़ने पर भी ऐसा कोई हैंडल नज़र नहीं आ रहा. ये किसी अर्बन नक्सल ने बनाया लगता है, ताकि जब पूरी दुनिया खुशी मना रही हो, तब कुछ लोगों को मोदी को गाली देने का मौका मिल सके.”


इसके बाद अनुराग ने अशोक पंडित को ट्विटर और इंस्टाग्राम में फर्क बताया और लिखा …

इसके बाद फिर अशोक पंडित ने लिखा…


”अगर ये सही है, तो इसकी सिर्फ निंदा नहीं निदान करना पड़ेगा. मेरी बेटी के साथ भी ऐसी चीज़ें हो चुकी हैं. लेकिन मैंने उसके खिलाफ पुलिस में कंप्लेंट दर्ज करवाया. सिर्फ पीएम मोदी का नाम नहीं जपता रहा क्योंकि मेरे लिए मेरी बेटी की इज्ज़त और सुरक्षा राजनीति से बढ़कर हैं.”

बात यह नहीं है की कौन किस विचारधारा को फॉलो करता है जबकि बात यह है कि क्या एक असामाजिक तत्व की इस हरकत पर समझदार लोग भी इस तरह बहस करके उसको सही या गलत साबित करेंगे.