UPSC टॉपर कनिष्क कटारिया की सफलता के पीछे गर्लफ्रेंड का राज ?

0
2039
कनिष्क कटारिया (kanishak katariya)
kanishak katariya-Internet Pic

आपने और हम सब ने अक्सर सुना है कि एक सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है लेकिन बहुत कम सुना होगा कि कोई आदमी अपनी सफलता का श्रेय अपनी girlfriend को देता हो। क्योकि हम ऐसे समाज मे जी रहे है जहाँ नारी को पूजनीय तो माना गया है लेकिन सम्मान कभी नही दिया गया।

लेकिन समय बदल रहा है समाज और लोगों की सोच भी धीरे धीरे बदल रही है और जिन लोगो की सोच नही बदल रही है उम्मीद है वो भी आने वाले समय मे अपना नजरिया बदल लेंगे।

वैसे अब तक आपको ये पता चल गया होगा कि यहाँ हम किसकी बात करने वाले है। अगर आपको पता चल चुका है तो कोई बात नही और अगर नही पता चला तो हम बता देते है कि हम यहाँ UPSC सिविल परीक्षा में टॉप करने वाले कनिष्क कटारिया ( kanishak katariya) की बात कर रहे है जिन्होंने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता – पिता के साथ अपनी girlfriend को भी दिया है।

लोग अक्सर सफल होने के बाद अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता परिवार गुरुओ और दोस्तो को देते है लेकिन तनिष्क ने इनके साथ ही अपनी गर्लफ्रैंड को भी अपनी सफलता का श्रेय दिया है।बड़ी ही सहजता से उन्होंने एक interview में कहा कि-

“ये बड़े सुखद आश्चर्य वाला क्षण है. मैंने कभी उम्मीद नहीं की थी की मुझे (यूपीएससी के एग्जाम में) पहली रेंक हासिल होगी. मैं अपने माता-पिता, बहन और अपनी गर्लफ्रेंड का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मेरी मदद की और मेरा मनोबल बढ़ाया.”
उन्होंने कहा – लोग मुझसे एक अच्छा प्रशासक बनने की उम्मीद करेंगे और यही मेरा इरादा है.

बात दे कि UPSC ने (UPSC Result 2019) रिजल्ट जारी कर आईएएस, आईपीएस और आईएफएस आदि पदों पर नियुक्ति के लिए कुल 759 अभ्यर्थियों के नाम घोषित किये हैं जिनमें 577 पुरुष और 182 महिलाएं हैं. पहले स्थान पर कनिष्क कटारिया के बाद दूसरे स्थान पर अक्षत जैन हैं. आईआरएस की ट्रेनिंग ले रहे जुनैद अहमद ने देश भर में तीसरा रैंक हासिल किया है. वहीं पांचवे स्थान पर रहीं सृष्टि जयंत देशमुख देशभर की महिलाओं में पहले नंबर पर हैं.

कनिष्क कटारिया (kanishak katariya) आईएएस सांवरमल वर्मा के बेटे है और इनके ताऊजी भी एक IAS officer है। कनिष्क ने आईआईटी मुंबई से 2014 में कंप्यूटर साइंस में बीटेक के बाद उन्हें पहली नौकरी कोरिया में सैमसंग कंपनी में मिली थी। वहां 1 करोड़ रुपए का पैकेज था। लेकिन उन्होंने अपने पिता और ताऊ की तरह आईएएस बनकर जनता की सेवा करने की ठानी और अपनी नौकरी छोड़ दी और यहां से नौकरी छोड़ दिल्ली तैयारी के लिए चले गए और मात्र दो साल की तैयारी में पहले ही प्रयास में वे टॉपर बन गए।

The Half World की टीम की तरफ से कनिष्क कटारिया तुम्हें बधाई हो।