‘हाथ पकड़कर हमार जबरदस्ती पंजा पर धर दिहिन. हम देहे जात रहिन कमल पर’: स्मृति ईरानी का कांग्रेस पर बूथ कैप्चरिंग का आरोप

0
778
बूथ कैप्चरिंग (Booth capturing)
Smriti Irani & Old Woman (Internet pics)

देश में चुनाव हो और बूथ कैप्चरिंग (Booth capturing) जैसी घटनाएं न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता. ऐसा ही एक वाकया सामने आया है और वो भी हाई प्रोफाइल सीट अमेठी से, जहाँ से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी प्रत्याशी है. अमेठी से एक बुजुर्ग महिला का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे वो अपने साथ होने वाली धोकेबाजी के बारे में बता रही है.

आज लोकसभा चुनाव पांचवें चरण में 51 सीटों पर वोटिंग हो रही है. इस चरण में अमेठी और रायबरेली की सीटों पर मुख्य रूप से सबकी नजरें टिकी हुई हैं, क्योंकि इस बार राहुल गांधी और स्मृति ईरानी के बीच कांटे की टक्कर की उम्मीद है. यूपी के 16 जिलों की 14 लोकसभा सीटों के लिए हो रही वोटिंग के बीच बूथ कैप्चरिंग (Booth capturing) की घटना सामने आई है.

बीजेपी के आईटी सेल से एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें एक बुजुर्ग महिला से जबरदस्ती कांग्रेस के निशान वाले बटन को दबवाने का आरोप है. इस वीडियो को अमेठी के बीजेपी आईटी सेल के संयोजक ने शेयर किया है,
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी यह वीडियो शेयर कर राहुल गांधी पर बूथ कैप्चरिंग (Booth capturing) का आरोप लगाया है और चुनाव आयोग से संज्ञान लेने को कहा है.

इस वीडियो में एक बुजुर्ग महिला कैमरे के सामने कहती है ‘हाथ पकड़कर हमार जबरदस्ती पंजा पर धर दिहिन. हम देहे जात रहिन कमल पर ( कमल पर देना चाहती थी, जबरदस्ती पंजा पर डलवा दिया). यह मामला गौरीगंज के गूजरटोला बूथ नंबर 316 का है जहां पीठासीन अधिकारी ने जबरदस्ती कांग्रेस को वोट डलवा दिया. हालांकि, यह वीडियो कितना सही है और कितना गलत, इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है.

स्मृति ईरानी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर चुनाव आयोग को टैग करते हुए यह सूचना दी है कि राहुल गांधी बूथ कैप्चरिंग करा रहे हैं. इसके अलावा समाचार एजेंसी एएनआई को स्मृति ईरानी ने कहा कि मैंने प्रशासन और चुनाव आयोग को ट्वीट के जरिए इसकी सूचना दे दी है. उम्मीद है कि वे कार्रवाई करेंगे. अब इस देश के लोगों को यह तय करना है कि राहुल गांधी के इस तरह की राजनीति को सजा दी जानी चाहिए या नहीं.