कंगना-नवनीत के ये बयान होते दिखे सच, क्या Uddhav Thackeray पर भारी पड़ा नारी श्राप…

0
157
Uddhav Thackeray
कंगना-नवनीत के ये बयान होते दिखे सच, क्या उद्धव ठाकरे पर भारी पड़ा नारी श्राप...

द्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) का ये हश्र देखकर नवनीत राणा (Navneet Rana), कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और से ज्यादा खुश कौन होगा? उद्धव सरकार के शासन काल में महिला सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) और फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने उनको खुला चैलेंज दिया था. दोनों महिलाओं ने अलग-अलग मुद्दों पर मुख्यमंत्री के खिलाफ बयानबाजी की थी, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना भी पड़ा था. इन दोनों महिलाओं ने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को लेकर ऐसी बातें कहीं थी. जो आज की राजनीतिक संकट को देखकर याद आ रही है. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की सरकार खतरे में है और चर्चा हो रही है कि क्या इनकी बातें सच हो रहीं हैं? चलिए देखते है आखिर इन तीनों के बीच किस बात को लेकर आपसी मतभेद थे.

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के घर पर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान करने पर नवनीत राणा (Navneet Rana) को पति समेत जेल की हवा तक खानी पड़ी. जबकि, महाविकास आघाड़ी सरकार और शिवसेना के खिलाफ बयानबाजी के लिए कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के घर पर तो बीएमसी का बुलडोजर हाईकोर्ट का आदेश आने के बावजूद भी गरजता रहा था. इतना ही नहीं, एनसीपी चीफ शरद पवार के खिलाफ कथित तौर पर एक पोस्ट लिखने के चलते एक महीने से ज्यादा समय तक मराठी अभिनेत्री केतकी चितले को जेल में रहना पड़ा.

‘आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा’, – कंगना रनौत

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मुख्यमंत्री निवास से अपना बोरिया बिस्तर बांध लिया थे और अपने घर मातोश्री पहुंच गए थे। शिवसेना विधायक और मंत्री एकनाथ शिंदे के विद्रोही रुख के कारण मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मुश्किल उस समय मुश्किल में दिखाई दिए। इस तमाम संकट के बीच सोशल मीडिया पर अमरावती से सांसद नवनीत राणा और बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बयान काफी चर्चा में थे, और साथ ही यह भी कहा जा रहा था कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को महिलाओं को श्राप भारी पड़ गया है।

कंगना रनौत के घर पर ‘बदले’ का बुलडोजर

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में सीधे ठाकरे परिवार पर निशाना साधा था. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के बेटे आदित्य ठाकरे के साथ उन्होंने पूरी शिवसेना को ही इस मामले में घसीट लिया था. जिसकी वजह से शिवसेना खुलकर कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ उतर आई थी. कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने उस दौरान महाविकास आघाड़ी सरकार को जमकर लताड़ लगाई थी. लेकिन, उनके निशाने पर शिवसेना ही थी. कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की ये लड़ाई जल्द ही सियासी रंग में रंगी नजर आने लगी. इस दौरान कंगना रनौत और शिवसेना के नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग शालीनता की सारी हदों को पार कर गई थी. और, कंगना (Kangana Ranaut) को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ा.

तोड़-फोड़ में कंगना को झेलना पड़ा था भारी नुकसान

बीएमसी ने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के दफ्तर पर 24 घंटे का नोटिस देकर बुलडोजर चला दिया था. बीएमसी द्वारा की गई इस तोड़-फोड़ में कंगना रनौत को करीब दो करोड़ का नुकसान हुआ था. वैसे, बुलडोजर की इस कार्रवाई के बाद कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और मुखर हो गई थीं. उन्होंने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को वंशवाद का नमूना बताने के साथ ही शिवसेना को सोनिया सेना बता डाला था. इस विवाद के बढ़ने पर कंगना रनौत को शिवसेना सांसद संजय राउत ने ‘हरामखोर’ तक कह डाला. हालांकि, बाद में संजय राउत ने कहा कि उनकी भाषा में इस शब्द का मतलब ‘नॉटी’ होता है.

‘उद्धव ठाकरे, यह आतंक अच्छा है, मेरे साथ हुआ’ – कंगना

साथ ही महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का बयान भी वायरल हुआ। कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ठाकरे सरकार पर हमला बोला था तो BMC ने कंगना के घर पर कार्रवाई की। तब कंगना ने कहा था, ‘उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray), यह आतंक अच्छा है, मेरे साथ हुआ। जय हिंद जय महाराष्ट्र। बीएमसी की कार्रवाई पर कंगना ने कहा था कि आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा, ये वक्त का पहिया है, याद रखना हमेशा एक जैसा नहीं रहता।

हनुमान चालीसा विवाद में नवनीत राणा को जेल भेजा था

आपको बता दें को अमरावती से सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) को हनुमान चालीसा विवाद के बाद जेल में डाल दिया गया था और BMC की कार्रवाई में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के घर में तोड़फोड़ की गई थी। उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) सरकार पर लगातार निशाने साधने वाले नवनीत राणा (Navneet Rana) और कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बयान एक बार फिर सुर्खियों में हैं।

नवनीत राणा ने उद्धव ठाकरे को दी थी चुनौती

गौरतलब है कि भाजपा से विवाद के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने एनसीपी और कांग्रेस से हाथ मिलाकर बेमेल गठबंधन तैयार कर लिया था। इस बात को लेकर शिवसेना में ही दो राय कायम हो गई थी। इसके अलावा नवनीत राणा (Navneet Rana) और कंगना रनौत ने उद्धव को दी सीधी चुनौती देते हुए मुख्यमंत्री और ठाकरे सरकार का विरोध किया। उद्धव ठाकरे के खिलाफ बयान दिए और इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ा था।

”उद्धव ठाकरे को उनका घमंड ले डूबेगा” – नवनीत राणा

महाराष्ट्र में अजान विवाद के बीच नवनीत राणा (Navneet Rana) और उनके विधायक पति रवि राणा ने उद्धव ठाकरे को हनुमान चालीसा पढ़ने को कहा था और ऐसा न करने पर मातोश्री जाकर उन्हें हनुमान चालीसा पढ़ने को कहा। इस विवाद में राणा दंपत्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और न्यायिक हिरासत में भेज दिया। राणा दंपत्ति 13 दिनों तक जेल में रखा गया था। तब नवनीत राणा (Navneet Rana) ने कहा था कि उद्धव ने सत्ताा का दुरुपयोग किया है और जनता इसका जवाब जरूर देगी। नवनीत राणा (Navneet Rana) ने कहा था कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को उनका घमंड ले डूबेगा।