Supreme court on Nupur Sharma: ‘आपको खतरा है या आप देश के लिए खतरा बन गई हैं?’ Udaipur Kanhaiya murder के लिए जिम्मेदार…

0
221
Nupur Sharma
Supreme court on Nupur Sharma: 'आपको खतरा है या आप देश के लिए खतरा बन गई हैं?'

Supreme court on nupur sharma: ‘जिस तरह से उन्‍होंने (Nupur Sharma) देशभर में भावनाएं भड़काई हैं…. जो कुछ हो रहा है उसके लिए सिर्फ यह महिला जिम्‍मेदार है।’ शुक्रवार को नूपुर की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उन्‍हें बुरी तरह लताड़ा। जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि नूपुर शर्मा को ‘पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए।’ जस्टिस जे.बी. पारदीवाला ने कहा कि ने कहा कि उदयपुर की घटना के लिए भी नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) का बयान ही जिम्‍मेदार है। नूपुर के समर्थन में पोस्‍ट के चलते मंगलवार को उदयपुर में दो मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हिंदू दर्जी कन्‍हैयालाल का सिर कलम कर दिया था। SC की वेकेशन बेंच ने शुक्रवार को नूपुर के साथ-साथ दिल्‍ली पुलिस को भी कड़ी फटकार लगाई। एक वक्‍त नूपुर के वकील मनिंदर सिंह ने कहा कि अगर अदालत की यह राय है तो हर नागरिक को बोलने का अधिकार नहीं रह जाएगा। इसपर जस्टिस कांत ने लोकतंत्र, घास और गधे को जोड़कर बड़ी दिलचस्‍पी टिप्‍पणी की।
शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) की ओर से याचिका दायर की गई थी। जिसमें मांग की गई कि उनके खिलाफ दर्ज केस देश के विभिन्न हिस्सों में दर्ज हैं। क्योंकि उनकी जान को खतरा है इसलिए उनका केस दिल्ली में ट्रांसफर किया जाए। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की और कहा कि इसे पहले हाई कोर्ट में दायर किया जाना था।

फेयर ट्रायल का मौका मिले

अब सुप्रीम कोर्ट में एक नई याचिका दायर की गई है। सामाजिक कार्यकर्ता अजय गौतम की ओर से दायर याचिका में मांग की गई है कि नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) केस में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को वापस लिया जाना चाहिए। याचिका में इसके पीछे तर्क दिया गया है कि इससे नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) की जान को खतरा है। उन्हें फेयर ट्रायल का मौका मिलना चाहिए।

टीवी पर माफी मांगे नूपुर शर्मा

सुप्रीम अदालत ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा था कि उनके ही एक बयान के चलते माहौल खराब हो गया। नूपुर शर्मा ने माफी मांगने में देरी कर दी और उनके चलते ही दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं। न्यायमूर्ति सूर्य कांत और न्यायमूर्ति जे बी पारदीवाला की बेंच ने पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी के लिए विभिन्न राज्यों में दर्ज प्राथमिकियों को एक साथ जोड़ने की शर्मा की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया। उन्हें याचिका वापस लेने की अनुमति दी। इसके साथ ही नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने अदालत से अपनी अर्जी को वापस ले लिया।

नूपुर से लेकर दिल्‍ली पुलिस तक… SC से सबको डांट पड़ी

जब शर्मा की तरफ से कहा गया कि उनकी जान को खतरा है तो कोर्ट ने कहा कि ‘आपको खतरा है या आप देश के लिए खतरा बन गई हैं?’ इसके बाद कोर्ट ने उदयपुर घटना के लिए नूपुर को जिम्‍मेदार बताते हुए कहा कि ‘आपने जिस तरह से भावनाओं को भड़काया है, देश में जो हो रहा है, उसके लिए अकेले आप जिम्‍मेदार हैं।’ अदालत ने नूपुर को FIRs दिल्‍ली ट्रांसफर होने की राहत देने से इनकार किया। फिर जस्टिस कांत ने दिल्‍ली पुलिस का रुख किया। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद दिल्ली पुलिस ने क्या किया। अदालत ने नूपुर से कहा कि वे हाई कोर्ट का रुख करें। इसके बाद उन्‍होंने याचिका वापस ले ली।

10 मुख्य प्वाइंट जानिए-

  • सुप्रीम कोर्ट ने निलंबित बीजेपी नेता नूपुर (Nupur Sharma) को उनके खिलाफ दर्ज़ सभी एफआईआर को दिल्ली स्थानांतरित करने के लिए राहत देने से इनकार कर दिया. इसके बाद नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने सुप्रीम कोर्ट से अपनी याचिका वापस ले ली.
  • नूपुर शर्मा के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्हें अपनी जान का खतरा है, इस पर जस्टिस सूर्यकांत ने कहा है कि उन्हें खतरा है या वह सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं? उन्होंने जिस तरह से पूरे देश में भावनाओं को भड़काया है, पूरे देश में जो हिंसक घटनाएं हो रही हैं,जो हो रहा है उसके लिए पूरी तरह से केवल और केवल वह अकेली ही महिला जिम्मेदार हैं.
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा- उन्हें टीवी पर जाकर देश से माफी मांगनी चाहिए थी.
  • सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को उनके अहंकार के लिए फटकार लगाई और कहा कि क्योंकि वह एक पार्टी की प्रवक्ता हैं और सत्ता उनके सिर पर चढ़ गई है.
  • सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के लिए कहा- उसकी शिकायत पर एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया जाता है, लेकिन कई एफआईआर के बावजूद उसके (नुपूर शर्मा) खिलाफ अभी तक दिल्ली पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. कोर्ट ने पूछा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद दिल्ली पुलिस ने क्या किया.
  • सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में राजस्थान के उदयपुर में हुई टेलर मर्डर के मामले को भी नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के बयान से जोड़कर देखा है. कोर्ट ने कहा कि उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए उनका बयान ही जिम्मेदार है, जहां एक दर्जी की हत्या कर दी गई. सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को कहा कि, आपकी वजह से देश का पूरा माहौल बिगड़ा है और आपने माफी मांगने में काफी देर कर दी. SC का कहना है कि उन्होंने “राष्ट्र की सुरक्षा को खतरा” पैदा किया है.
  • एससी (SC) ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा कि उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. SC ने कहा कि उन्होंने और उनके बयान ने पूरे देश में आग लगा दी है. कोर्ट ने टीवी चैनलों को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि टीवी चैनलों को नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) और ऐसे मामले से जुड़े किसी भी एजेंडे को बढ़ावा नहीं देना चाहिए, जो न्यायालय में विचाराधीन है.
  • जब नूपुर शर्मा के वकील सुप्रीम कोर्ट से कहती हैं कि वह जांच में शामिल हो रही हैं और भाग नहीं रही हैं, तो सुप्रीम कोर्ट ने कहा- वहां आपके लिए रेड कार्पेट होना चाहिए.
  • नूपुर शर्मा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने टिप्पणी के लिए माफी मांगी और टिप्पणियों को वापस ले लिया. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने माफी मांगी थी लेकिन शर्त के साथ.
  • सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा के वकील को इस मामले में संबंधित हाईकोर्ट के पास जाने का सुझाव दिया है.

नूपुर शर्मा का विवादित बयान

मीडिया की खबरों के अनुसार देश के सुप्रतिष्ठित टीवी चैनल टाइम्स नाउ के प्राइम टाइम के डिबेट शो में ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर बहस चल रही थी। जिसमें नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के द्वारा कहा गया की कई कुछ कट्टरपंथी सगंठनों के द्वारा हिन्दू आस्था का मजाक उड़ाया जाता है। जिसके बाद विवादित बयान मोहम्मद पैगम्बर के ऊपर भी दिया और इस्लामिक कटटर मान्यताओं का जिक्र किया। देश के समाज सेवी और नेता मोहम्मद जुबैर ने नूपुर का वीडियो ट्विटर पर शेयर कर FIR दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करने की मांग की। हालाँकि बाद में नूपुर ने आपने बयान के लिए माफ़ी भी मांगी। जिसके बाद से ही नूपुर को मुस्लिम कट्टरपंथी संगठनों के द्वारा जान से मारे जाने की धमकियां दी जाने लगीं।

नूपुर शर्मा जीवन परिचय

नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) का जन्म 23 अप्रैल सन 1985 को भारत के नई दिल्ली में हुआ। बचपन से ही तेज और प्रखर स्वभाव की नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) ने अपनी प्रारम्भिक पढ़ाई दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) से की। अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद नूपुर ने दिल्ली युनिवर्सिटी के हिन्दू कॉलेज से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की। आपको बता दें की नूपुर ने स्नातक में अर्थशात्र में (ऑनर्स) की डिग्री प्राप्त की है। इसके बाद नूपुर ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से मास्टर ऑफ़ लॉस (Master of Laws) से मास्टर किया।

नूपुर शर्मा का राजनीतिक करियर

नूपुर कॉलेज से ही अपने पोलिटिकल करियर की शुरुआत कर दी थी। दिल्ली में कॉलेज के समय में नूपुर पोलिटिकल काफी एक्टिव रहीं। वर्ष 2008 में नूपुर ने कॉलेज में रहते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की तरफ से दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन (डीयूएसयू) का चुनाव लड़ा और अध्यक्ष पद के लिए चुनी गयीं। इसके बाद 2010 में छात्र राजनीति में रहते हुए भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा में काफी सक्रिय रहीं। जिसके बाद 2015 में नूपुर बीजेपी से जुड़ीं। पार्टी से जुड़ने के बाद उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया। इसके बाद बीजेपी ने नूपुर को दिल्ली में होने वाले विधान सभा चुनाव में अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ खड़ा किया लेकिन चुनाव के नतीजे आने के बाद नूपुर को हार का सामना करना पड़ा। यहां आपको बता दें की पेशे से वकील नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) दिल्ली के हाई कोर्ट में अपनी प्रैक्टिस करती हैं.