लड़की से लड़का बना, कबड्‌डी कैप्टन से शादी, महिला पीटीआई को गर्ल स्टूडेंट से हुआ प्यार…

आरव (जो पहले मीरा थी) बताते हैं कि मुझे पहले से ही अपना शरीर एक्सेप्ट नहीं होता था। जब मैं 12वीं में था 2010 में तब मैंने जेंडर चेंज करने की न्यूज पढ़ी थी। तभी से मेरा माइंड सेट हो गया था कि मुझे अपना जेंडर चेंज करवाना है।

0
615
जेंडर चेंज
लड़की से लड़का बना, कबड्‌डी कैप्टन से शादी, महिला पीटीआई को गर्ल स्टूडेंट से हुआ प्यार...

भरतपुर में लड़की से लड़का बना, कबड्‌डी कैप्टन से शादी:महिला पीटीआई को गर्ल स्टूडेंट से हुआ प्यार; 4 नवंबर को लिए फेरे
राजस्थान की भरतपुर में ऐसी शादी का आयोजन किया गया जिसकी चर्चा राजस्थान ही नहीं बल्कि देशभर में हैं। सैदपुर में एक महिला शिक्षिका को अपने ही स्कूल में पढ़ रही छात्रा से प्यार हो गया , एवं इसके बाद महिला टीचर ने जेंडर चेंज करवा कर छात्रा से शादी कर ली।

भरतपुर के राजकीय माध्यमिक विद्यालय नगला में फिजिकल टीचर के पद पर तैनात , डीग की रहने वाली मीरा को इसी स्कूल में पढ़ने वाली छात्रा कल्पना से प्यार हो गया था। दरअसल कल्पना कबड्डी की अच्छी खिलाड़ी हैं एवं दो तीन बार नेशनल स्तर पर खेल चुकी है। कल्पना की टीचर मीरा होने की वजह से दोनों में रिश्ता लगातार बढ़ता गया , इसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला किया ‌‌लेकिन दोनों का जेंडर एक ही होने की वजह से शादी करने में दिक्कत आ रही थीं।

मीरा को चारों बहनें बांधती राखी

मीरा (आरव) के पिता वीरी सिंह ने बताया कि उनके चार लड़कियां थी। पांचवीं मीरा ने उनके घर जन्म लिया। वह कभी लड़कियों के कपड़े भी नहीं पहनती थी। मीरा बचपन में लड़कों के साथ ही खेला करती थी।

शुरू से वह लड़कों की तरह रही तो मीरा की चारों बहनें उसे राखी बांधती थी।

सभी लोग मीरा से लड़कों की तरह व्यवहार करते थे। पहले मीरा कहती थी मैं शादी नहीं करूंगी। वीरी सिंह ने कहा कि अब मैं बहुत खुश हूं।

अखबार से आया आइडिया, तीन सर्जरी करने के बाद बदला रूप

आरव (जो पहले मीरा थी) बताते हैं कि मुझे पहले से ही अपना शरीर एक्सेप्ट नहीं होता था। जब मैं 12वीं में था 2010 में तब मैंने जेंडर चेंज करने की न्यूज पढ़ी थी। तभी से मेरा माइंड सेट हो गया था कि मुझे अपना जेंडर चेंज करवाना है।

इसके बाद मैंने गूगल सर्च किया और यू-ट्यूब पर भी कई वीडियो देखें, जिसमें इससे संबंधित जानकारी थी। किसी ने बताया कि दिल्ली में एक डॉक्टर है, वह सर्जरी करते हैं।

इसके बाद डॉक्टर से कॉन्टैक्ट किया और 25 दिसंबर 2019 को पहली सर्जरी हुई। इसके बाद 2020 में दूसरी और दिसंबर 2021 में तीसरी फाइनल सर्जरी की गई।

कल्पना राजस्थान टीम की कैप्टन रहीं

आरव ने बताया कि सर्जरी करवाने से पहले घरवालों को हमने बताया कि हम शादी करना चाहते हैं तो वे राजी हो गए। मैंने पहले ही बता दिया था कि मैं जेंडर चेंज करवा रहा हूं। इसलिए किसी को आपत्ति नहीं हुई। कल्पना को लेकर आरव का कहना है कि वो कबड्‌डी की अच्छी प्लेयर रही है। कल्पना ने लगातार तीन स्टेट मैच खेले हैं। कल्पना राजस्थान टीम की कैप्टन भी रहीं हैं। अभी राजस्थान ग्रामीण ओलिंपिक में भी हिस्सा लिया था।

मैं आरव को शुरू से चाहती थी, ऑपरेशन करवाने साथ गई थी

कल्पना इस शादी के बाद से खुश है। आरव का परिवार अभी डीग कस्बे में ही रहता है। कल्पना ने बताया कि मेरे पति जब पीटीआई टीचर थे तो मुझे कई टूर्नामेंट में लेकर जाते थे।

आज जिस जगह पर हूं वह आरव की वजह से हूं। कल्पना ने बताया कि मैं आरव को शुरू से चाहती थी।

ऑपरेशन करवाने जाते समय आरव ने मुझे साथ ले जाने के लिये पूछा तो मैं साथ चली गई। लेकिन एक चीज दिमाग में थी कि दुनिया क्या कहेगी कि गुरु और शिष्य ने शादी कर ली?

आरव काफी हौसला दिया। फैमिली से पूछने पर फैमिली ने भी हां कर दिया।