CADD Delhi Survey: पहले से ज्यादा शराब पीने लगीं दिल्ली की महिलाएं, 62.5% महिलाओं ने शराब पर अधिक खर्च करना किया शुरू…

CADD Delhi Survey के अलाना नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अल्कोहल एब्यूज एंड अल्कोहलिज्म (NIAAA), यूएसए आंकड़ों की मानें को 62.5% महिलाओं ने शराब पर अधिक खर्च करना शुरू कर दिया है, जबकि 22.3% ने खर्च कम किया है. वहीं 15.2% ने शराब के खर्च में किसी भी नियमित वृद्धि की सूचना नहीं दी.

0
63
CADD
CADD Delhi Survey: पहले से ज्यादा शराब पीने लगीं दिल्ली की महिलाएं, 62.5% महिलाओं ने शराब पर अधिक खर्च करना किया शुरू…

CADD Delhi Survey के अलाना नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अल्कोहल एब्यूज एंड अल्कोहलिज्म (NIAAA), यूएसए आंकड़ों की मानें को 62.5% महिलाओं ने शराब पर अधिक खर्च करना शुरू कर दिया है, जबकि 22.3% ने खर्च कम किया है. वहीं 15.2% ने शराब के खर्च में किसी भी नियमित वृद्धि की सूचना नहीं दी.

देश में शराब की खपत (Liquor Consumption) तेजी से बढ़ रही है. बीते दिनों दिवाली से पहले तीन दिन की बिक्री के चौंकाने वाला डाटा सामने आया था, जिसमें बताया गया था कि सिर्फ 3 दिन में ही दिल्ली वाले 100 करोड़ से ज्यादा की शराब गटक गए. अब एक ताजा सर्वे सामने आया है कि महिलाओं में शराब (Women Drinking) की खपत तेजी से बढ़ी है. इसमें सबसे बड़ा हाथ शराब पर मिलने वाली छूट का रहा. दिल्ली में तो बीते दिनों तक एक बोतल की खरीद पर एक बोतल फ्री दी जा रही थी.

5000 महिलाएं सर्वे में शामिल

यह खुलासा 2022 में शराब का सेवन (Liquor Drinking) करने वाली महिलाओं पर हुए सीएडीडी दिल्ली सर्वेक्षण (CADD Delhi Survey) में हुआ है. इसमें 5,000 महिलाओं को शामिल किया गया था और जो निष्कर्ष सामने आए उनमें पाया गया कि महिलाओं में शराब के उपयोग में तेज बढ़ोतरी हुई है. दूसरे शब्दों में कहें तो महिलाएं पहले से ज्यादा शराब पीने लगी हैं. सर्वे में शामिल 77 फीसदी से ज्यादा महिलाओं ने ये माना है कि दुकानों पर एक के साथ एक फ्री जैसी छूट ने शराब की खरीदारी को और अधिक आकर्षक बना दिया है.

सर्वे में ये बड़ी बात आई सामने

Survey के आंकड़ों से पता चलता है कि कोरोना महामारी के दौरान से महिलाएं सामान्य से अधिक शराब पी रही हैं. इसमें पाया गया कि महिलाएं अपनी चिंताओं से निजात पाने के लिए भी शराब का अधिक सेवन कर रही थीं. जो पुरुषों द्वारा अनुभव की जा रही चिंताओं के चलते शराब की खपत के अनुपात से अधिक था. CADD द्वारा किए गए इस सर्वेक्षण में COVID -19 महामारी के आगामी लॉकडाउन और पोस्ट लॉकडाउन, शराब की उपलब्धता और खपत में बढ़ोतरी, खर्च के पैटर्न, शराब पीने की आदतों समेत अन्य मानकों को आधार बनाया गया.

CADD के सर्वे में शामिल 5,000 महिलाओं में से 37.6 फीसदी ने माना कि उनकी शराब की खपत में वृद्धि हुई है. 42.3 फीसदी महिलाओं ने अपनी शराब की खपत वृद्धि को छिटपुट और अवसर जनित बताया. सर्वे में शामिल कई उत्तरदाताओं ने कहा कि लगातार दो साल तक कोरोना महामारी का प्रकोप झेलने के बाद साल 2022 की शुरुआत से जब चीजें सामान्य होने लगीं और प्रतिबंध खुलने लगे, तो बाजारों में लोगों की आवाजाही बढ़ने के साथ ही शराब के सेवन की मात्रा में भी जोरदार इजाफा हुआ है.

तनाव और चिंता रहा सबसे बड़ा कारण

महिलाओं में बढ़ी शराब की खपत (Alcohol Consumption) के कारणों के बारे में भी इस सर्वे रिपोर्ट में जानकारी साझा की गई है. इसमें सामने आया कि महिलाओं में शराब की अधिक खपत का सबसे बड़ा कारण तनाव और चिंता है. आंकड़ों को देखें तो 45.7 फीसदी महिलाओं में खपत बढ़ने की वजह तनाव (Tension) था. इसके अलावा 34.4 फीसदी ने कहा कि आसानी से शराब की उपलब्धता के चलते सेवन में वृद्धि हुई है. वहीं 30.1 फीसदी का कहना था कि विशेष रूप से बोरियत दूर करने के चक्कर में ज्यादा शराब का सेवन किया गया.

महज 7% ने शराब को खराब माना

अगर पुरुषों और महिलाओं में शराब के सेवन की तुलना करें तो रिपोर्ट में कहा गया भले ही पुरुषों की तुलना में कम महिलाएं नियमित रूप से शराब पीती हैं, इसे शराब पीने को जोखिम भरा और हानिकारक लेकिन लगभग 7% ने जोखिम भरा या हानिकारक शराब पीने की बात स्वीकार की है. सर्वे के अन्य आकड़ों को देखें तो…

38.1%- हफ्ते में दो दिन शराब का सेवन

19.1%- हफ्ते में 4 दिन से ज्यादा शराब का सेवन
वहीं सर्वे में 36.7% महिलाओ ने कहा कि एक दिन में 1 से 2 ड्रिंक लिए. जबकि 34.9 फीसदी महिलाओं ने माना दिन में 3-4 ड्रिंक लिए. बाकी 28.4 फीसदी ने एक सेशन में 4 या उससे अधिक ड्रिंक की बात कबूलीं.

इस आयुवर्ग की महिलाएं सर्वे में शामिल (कुल सैम्पल- 5000)

18 – 30 वर्ष – 1453
31- 45 वर्ष – 2021
46 – 60 वर्ष – 1206
60 साल ऊपर – 320

दिल्ली में 87% बिक्री बढ़ने का अनुमान


किसी भी वस्तु पर अधिक खर्च उसकी खपत में वृद्धि का संकेत होता है. आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में शराब की बिक्री में 87 फीसदी की बढ़ोतरी होने का अनुमान है. इसमें व्हिस्की और बीयर की बिक्री में क्रमशः 59.5% और 5.5% की वृद्धि देखी गई है. 37.9% उत्तरदाताओं का मानना ​​​​था कि बेहतर खरीदारी अनुभव के कारण उन्होंने अधिक खर्च किया, 39.8% का मानना ​​​​था कि छूट और ऑफर के चलते खर्च बढ़ गया. इसके अलावा 33.2% ने हाउस पार्टियों और 34.1% ने घर पर शराब पीने को आरामदायक बताया, जबकि 32.7% को बार और पब में जाना पसंद था.