Taapsee Pannu: ‘सांड की आंख’ – आपके लक्ष्य का केंद्र,

0
1873
Taapsee Pannu

बॉलीवुड की अभिनेत्री Taapsee Pannu की फिल्म ‘सांड की आंख’ जल्द ही रिलीज होने वाली हैं.

तापसी ने इस फिल्म को लेकर कहा कि फिल्म में एक शार्पशूटर की भूमिका निभाने जा रही हैं, यह उनके करियर का सबसे कठिन अनुभव है.
तापसी ने यह टिप्पणी 100 हिंदी व अंग्रेजी कविताओं वाली एक किताब ‘अनरीड’ के विमोचन के मौके पर मीडिया से बातचीत के दौरान की.

यह फिल्म देश की सबसे बुजुर्ग महिला शार्पशूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की कहानी पर बनाई गयी है. Taapsee Pannu और भूमि पेडनेकर फिल्म ‘सांड की आंख’ में निशानेबाज के रूप में देखने को मिलेगी.

फिल्म की शूटिंग के के बारे में बताते हुए तापसी ने कहा कि फ़िलहाल हमने 9 दिन की शूटिंग पूरी कर ली है.

8 मार्च को फिल्म ‘ “बदला’ की रिलीज होगी, तो मैं शूटिंग जारी रखने के लिए वापस जाउंगी. अपने अनुभव को सबके साथ साझा करते हुए तापसी ने कहा कि यह मेरा एक कठिन अनुभव रहा है.

Taapsee Pannu की 8 मार्च को “बदला” नामक फिल्म रिलीज़ होने वाली है जिसमे वह एक बच्ची की माँ का किरदार निभा रही है. इस फिल्म में अमिताभ बच्चन भी मुख्य भूमिका में है.

देखें: BADLA का ट्रेलर: एक शादीशुदा महिला के अवैध सम्बन्ध – मैं सिर्फ अपने हस्बैंड और बेटी से प्यार करती हूँ।

मुझे लगता है कि यह मेरे बॉलीवुड के करियर की सबसे कठिन भूमिकाओं में से एक है. मुझे नहीं पता कि मैं इसमें कैसे अभिनय करूंगी, लेकिन मैं हर दिन स्वयं का सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगी.

इस फिल्म का शीर्षक ‘सांड की आंख’ भी बहुत अलग है.

जब फिल्म के निमार्ताओं से पूछा गया कि इस फिल्म का शीर्षक यह रखे जाने के पीछे क्या कारण रहा, तब Taapsee Pannu ने कहा कि सांड की आंख का मतलब अंग्रेजी भाषा में ‘बुल्स आई’ होता है यानि आपके लक्ष्य का केंद्र, लेकिन इस फिल्म में आपको निशानेबाजों का देसी परिवार देखने को मिलेगा, इसीलिए हमने यह नाम रखा.