मिस-मैनेजमेंट और गलत नीतियों का नतीजा है चीन के साथ युद्ध-सोनिया गाँधी

0
427
सोनिया गाँधी
Pic Credit-DNA India

दिल्ली में आज कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की मीटिंग हुई। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चीन के मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सीमा पर चीन के साथ जो संकट चल रहा है, वह भाजपा सरकार के मिस-मैनेजमेंट और गलत नीतियों का नतीजा है।

सोनिया गांधी ने पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ने और कोरोना को लेकर भी सरकार पर हमले किए। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी पर मिस-मैनेजमेंट नरेंद्र मोदी सरकार की सबसे भयानक नाकामियों में गिना जाएगा।

चीन के सामने सरेंडर किया था कांग्रेस ने : भाजपा
चीन के मुद्दे पर कांग्रेस-भाजपा में बहस तेज हो गई है। सोनिया से पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को कहा था कि देश की सुरक्षा जैसे मुद्दों पर प्रधानमंत्री मोदी को सोच-समझकर बयान देना चाहिए। इसके जवाब में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा था कि कांग्रेस ने भारत का 43,000 किलोमीटर का हिस्सा चीन को सौंप दिया था। मनमोहन के समय 2010 से 2013 के बीच चीन ने 600 बार घुसपैठ की थी।

गौरतलब है कि पिछले दिनों चीन के साथ हुई झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए जिसमें एक अफसर था व बाकि जवान थे तथा प्रधानमंत्री ने कहा है कि हमारे सैनिकों का बलिदान ऐसे ही नहीं जाएगा। तथा हमारी सीमा में कोई नहीं गुसा है।