क्या युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के पिता का पोता मांगना पुरुषवादी सोच का प्रतीक है?

0
485
युवराज सिंह Yuvraj Singh
yuvraj sind and his father (Catch News)

एक पिता का अपनी औलाद के सफल होने पर खुसी जाहिर करना अच्छी बात होती है और उससे सफलता की आशा करना भी जायज है परन्तु यदि यह सब बेटे के लिए हो तो, मतलब ये कि यदि सफलता की आशा सिर्फ बेटे से ही की जाये और इस कारण से समाज में सिर्फ बेटे की विशेष जरुरत  और तवज्जो हो तो आप क्या कहेंगे ? ऐसी ही बात कही युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के पिता योगराज सिंह ने उनका कहा था की उनको पोता ही चाहिए।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की दुनिया से को अलविदा कह चुके युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के पिता योगराज सिंह का बयान युवराज के बारे में आता रहा है और वो अपने बेटे को सपोर्ट करते है परन्तु कई बार वो विवादस्पद बात कह देते है।  इस बार भी उन्होंने ऐसा ही किया है , दैनिक भास्कर की एक खबर की माने तो योगराज सिंह ने कहा है कि “मैं एक खुशनसीब पिता बना हूं,ठीक वैसे ही एक खुशनसीब दादा भी बनना चाहता हूं। इसलिए मैंने युवराज से कह दिया है कि मुझे जल्दी से एक पोता दे दो और अगले 20 साल के लिए मुझे दे दो। मैं उसे दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज बनाना चाहता हूं।”

इसके अलावा उनका कहना है कि युवराज ने मुझे दुनिया में जिता दिया व ताज पहना दिया। अब चाहता हूं कि अगर उसे बेटा हो तो वो युवराज को दुनिया में जिता दे और मेरा भी सिर गर्व से ऊंचा कर दे।

हम आपको बताना चाहते है कि क्रिकेटर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के पिता योगराज सिंह जो खुद भी इंडियन क्रिकेट टीम के लिए खेल चुके हैं। परंतु एक इंजरी के बाद उन्होंने पंजाबी सिनेमा में एंट्री ले ली और एक्टर बन गए थे। योगराज ने युवराज और अपने रिश्ते पर बात की और खुद को युवराज का प्राउड फादर भी बताया।

इससे पहले भी योगराज अपनी बात को बेबाकी से रखते आये है परन्तु उनकी कई बातों पर विवाद भी हो चुके है उन्होंने कई बार महेंद्र सिंह धोनी के लिया भी कई विवास्पद बातें कही तथा युवराज के करियर के साथ खिलवाड़ करने की बात कही। परन्तु इस बार मामला कुछ अलग है क्योंकि जब भी कोई बड़ा आदमी सिर्फ लड़का पैदा होने को ही सपोर्ट करते है तो विवाद हो जाता है और होना भी चाहिए क्योंकि समाज का प्रत्येक वर्ग इनकी बातों पर गौर करता है।