चीन के फेमस टीवी एंकर के #metoo केस को कोर्ट ने क्या बोल कर ख़ारिज कर दिया…

चीन के फेमस टीवी एंकर के #metoo केस को कोर्ट ने क्या बोल कर खरिज कर दिया...

1
484
#metoo
झोऊ शियोक्सआन #metoo

#metoo कैंपेन से जुड़ी एक खबर आयी है, बात है चीन की जहाँ एक मशहूर टीवी एंकर झू जुन पर झोऊ शियोक्सआन ने #metoo का आरोप लगाया था. अब अदालत ने झू पर दर्ज मुकदमे को ख़ारिज कर दिया. यह केस भी पूरी दुनिया में काफी फेमस हुआ था

झोऊ ने बताया की बात साल 2014 की है जब वो cctv चैनल के साथ इंटर्नशिप कर रहीं थी और झू जुन ने उन्हें ड्रेसिंग रूम में बुलाया और उनके साथ ज़बरदस्ती किस किया, झाऊ का कहना है कि शुरू में वो बहुत डर गई थीं, वह जानती थी कि उनके साथ यौन शोषण करने वाला इंसान एक फेमस टीवी एंकर है जिसके पास पावर है जिसकी वजह से उसकी बात पर कोई यकीन भी नहीं करेगा, और झाऊ ने इस बारे में कभी किसी से कुछ नहीं कहा.

साल 2018 में इस अभियान की शुरुआत हुई और झाऊ ने अपने साथ हुई घटना के बारे में लिखा. जिसको झाऊ की दोस्त ने वीबो पर पोस्ट कर दिया कुछ देर में ही वो पोस्ट सेंसर कर दिया गया, लेकिन तब तक यह लेख वायरल हो चुका था. इस लेख को सोशल मीडिया सपोर्ट मिलते देख झाऊ ने पुलिस रिपोर्ट भी कर दी थी जिसके बाद उन्हें रिपोर्ट वापस लेने पर दबाउ बनाया गया क्योंकि रिपोर्ट झू एक फेमस टीवी एंकर पर थी. लेकिन झाऊ ने रिपोर्ट वापस लेने से मना कर दिया. तब झू ने झाऊ पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करवाया.

14 सितंबर को इस मामले की आखिरी सुनवाई हुई जिसमे बीजिंग की हैडियन अदालत ने झू पर दर्ज मुकदमे को ख़ारिज कर दिया. कोर्ट का कहना है की ”झाऊ द्वारा पेश किए गए सबूत ये साबित करने के लिए अपर्याप्त थे कि झू ने उनका उत्पीड़न किया है.”
कोर्ट के इस फैसले के बाद झाऊ ने एक लिखित स्टेटमेंट जारी करके कहा है कि वो इसके खिलाफ अपील करेंगी.

metoo कैंपेन –

यह एक ऐसा अभियान था जिसके माध्यम से दुनिया की हर औरत को अपने साथ हुए दुर्वयवहार या यौन शोषण के बारे में खुल कर बात करने का मौका दिया गया था.

metoo’ कैंपेन की शुरुआत हुई थी हॉलिवुड लेकिन इस अभियान का असर दुनिया भर में देखने को मिला है भारत में इसके कई मामले सामने आये.

भारत में इसकी शुरुआत हुई थी तनुश्रा दत्ता से जिन्होंने नाना पाटेकर पर अक्टूबर 2018 में फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के सेट पर एक गाने की शूटिंग के दौरान गलत ढंग से छूने और बदतमीजी करने का आरोप लगाया था.
क्वीन फिल्म के डायरेक्टर रह चुके विकास बहल पर फैंटम फिल्म की एक महिला कर्मचारी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। जिसके बाद अभिनेत्री कंगना रनौत ने पीड़िता का पक्ष रखते हुए अपने साथ हुई घटना का भी जिक्र किया।
बॉलीवुड में इस अभियान का असर खास तोर से देखने को मिला जिसमे तन्मय भट्ट, रजत कपूर, चेतन भगत, सिंगर कैलाश खेर व अभिनेता आलोक नाथ जैसे बड़े नाम भी शामिल है.