Ukraine; में महिलाओं के साथ दरिंदगी की सारी हदे पार… बना रहीं खुद को बदसूरत

Ukraine; में महिलाओं के साथ दरिंदगी की सारी हदे पार... बना रहीं खुद को बदसूरत

0
605
Ukraine
Ukraine; में महिलाओं के साथ दरिंदगी की सारी हदे पार... बना रहीं खुद को बदसूरत

रूसी (Russia) सैनिक यूक्रेन (Ukraine) की राजधानी कीव के आसपास के क्षेत्र से अब दूसरे शहरों की और बढ़ रहे हैं, लेकिन जहां-जहां से वे गुजर रहे हैं, वहां जंग के कभी न भरने वाले जख्म छोड़कर जा रहे हैं। रूसी (Russia) सैनिक यूक्रेनी (Ukraine) महिलाओं के साथ इस कदर हैवानियत कर है कि वे फिर कभी किसी पुरुष से संबंध न बनाना चाहें और न जिंदगी में कभी यूक्रेनी (Ukraine) बच्चा पैदा कर पाएं। चलिए पढ़ते है यूक्रेन की महिलाओं और लड़कियों के साथ रूसी सैनिकों की हैवानियत का दर्द बयां करने वाली दैनिक भास्कर की रिपोर्ट…

  • कई दिन तक बलात्कार कर महिला की कर दी हत्या –
    कीव सिटी के इसी इलाके में एक और महिला से बलात्कार किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी। तेतियाना नाम की इस महिला के पड़ोसियों ने बताया कि यह सब उसी विदेशी सैनिक ने किया, जिसने ऐना का बलात्कार किया। महिला अपने दोस्त के साथ सुरक्षित स्थान पर जाने की तैयारी कर रही थी, तभी रूसी (Russia) सैनिक आया और उसे उठा ले गया। पास के ही एक खाली घर में बंधक बनाकर कई दिन तक रेप किया। इसके बाद चाकू से गला काट दिया। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कमरे में खून बिखरा पड़ा था। गद्दे और परदों पर खून के निशान हैं। कोने में रखे एक शीशे पर लिपस्टिक से लिखा था- ”अज्ञात लोगों ने अत्याचार किया है और रूसी सैनिकों ने दफनाया।”

तेतियाना के पड़ोसी ओक्साना ने बताया कि रूसी (Russia) सैनिकों ने बलात्कार के बाद उसका गला काट दिया और पेट में चाकू घोंपा था, जिससे उसकी मौत हुई। हम लोगों को उसका शव मिला, जिसे हम लोगों ने घर के गार्डन में दफनाया।

घर के गार्डन में शव दफनाने की तस्वीर। यूक्रेन में रूसी (Russia) सैनिकों के खौफ के चलते बाहर जाना मुमकिन नहीं है, ऐसे में शव को पड़ोसियों के साथ मिलकर घर के गार्डन में ही दफना दे रहे हैं।
घर के गार्डन में शव दफनाने की तस्वीर। यूक्रेन में रूसी सैनिकों के खौफ के चलते बाहर जाना मुमकिन नहीं है, ऐसे में शव को पड़ोसियों के साथ मिलकर घर के गार्डन में ही दफना दे रहे हैं।

  • पति को गीली मार, पत्नी से की दरिंदगी –
    कीव शहर से करीब 70 किलोमीटर दूर ग्रामीण इलाके की एक 50 वर्षीय महिला ऐना (बदला हुआ नाम) ने बताया कि 7 मार्च को वह अपने पति के साथ घर में थी, तभी एक विदेशी सैनिक घुस आया। बंदूक की नोक पर वह मुझे पास एक घर में ले गया, जहां उसने मुझे कपड़े उतारने के लिए कहा और उसकी बात नहीं मानने पर मेरे पति और मुझे गोली मारने की धमकी दी। इसके बाद उसने मेरे साथ रेप किया। चेचन सैनिक जब मेरा रेप कर रहा था, तभी वहां चार रूसी सैनिक और आए। उन्हें देखकर मैं काफी डर गई, लेकिन वे आरोपी को लेकर चले गए।

पीड़ित महिला। रूसी (Russia) सैनिकों ने किसी महिला से घर में घुसकर रेप किया तो कहीं नाबालिग को घर से खींचकर सड़क पर गैंगरेप किया।
जब मैं घर लौटी तो पति घायल अवस्था में पड़े थे। उन्होंने बताया कि मुझे बचाने के लिए जब वे मेरे पीछे भागे तो रूसी (Russia) सैनिक ने उन पर गोली चला दी। गोली पेट में लगी थी। लगातार हो रहे हमलों के चलते मैं अपने पति को अस्पताल नहीं ले जा पाई। दो दिन बाद उनकी मौत हो गई। बाद में पति के शव को पड़ोसियों के साथ मिलकर घर के गार्डन में ही दफना दिया। इतना कहते-कहते पीड़िता फफक-फफक कर रो पड़ी। पीड़िता के मुताबिक, उसे बचाने वाले सैनिक कुछ दिन उसके घर रुके, जहां उस पर बंदूक तान कर उसके पति का सामान मांगा। जब वे चले गए तो उसे अपने घर में ड्रग्स और वियाग्रा मिला। रूसी सैनिक हर वक्त नशे में रहते। उनमें से ज्यादातर हत्यारे, बलात्कारी और लुटेरे हैं।

  • पति की हत्या कर बच्चे के सामने महिला से किया गैंगरेप –
    कीव से करीब 30 किलोमीटर दूर एक गांव के एक घर में तीन लोगों का परिवार रहता था। 30 साल के करीब कपल और चार साल का बच्चा। महिला ने अपनी आपबीत सुनाते हुए बताया कि 9 मार्च को दो रूसी सैनिक उसके घर में घुसे। मुझे और बेटे को बचाने की कोशिश कर रहे मेरे पति को गोली मार दी। उसके बाद दोनों ने बंदूक की नोक पर बेटे के सामने ही मेरा गैंगरेप किया। विरोध करने पर बेटे को गोली मारने की धमकी दी। पास ही मेरा रोता रहा, लेकिन फिर भी उन्होंने मुझे नहीं छोड़ा। जाते वक्त मेरे पालतू कुत्ते को मार डाला और घर में आग लगा दी। महिला पति का शव छोड़कर किसी तरह अपने बच्चे को लेकर भाग निकली। पीड़िता ने बताया कि मैंने अपने पति की लाश गेट के पास जमीन पर छोड़ी थी। पड़ोसियों ने उसके पति को घर के गार्डन में दफना दिया। अब पुलिस ने उसके शव को जांच के लिए निकाला है।
  • गर्भवती महिलाओं को भी नहीं छोड़ रहे रूसी सैनिक –
    अब इस तरह के मामलों को अंतरराष्ट्रीय अदालत में ले जाने की योजना बनाई जा रही है। यूक्रेन में ह्यूमन राइट अधिकारी ल्यूडमिला डेनिसोवा का कहना है कि वे ऐसे मामलों की सूची बना रहीं हैं। ल्यूडमिला ने बताया कि बुचा में 14 से 24 साल की 25 से ज्यादा लड़कियों और महिलाओं के साथ हैवानियत की गई। इनमें से 9 महिलाएं गर्भवती हैं।
  • रूसी (Russia) सैनिक महिलाओं को बता रहे ‘नाजी वेश्या’ –
    कई महिलाओं ने हेल्पलाइन पर कॉल कर ल्यूडमिला को अपनी आपबीती सुनाई। महिलाओं ने आपबीती बयां करते हुए बताया, ”रूसी सैनिकों ने कहा- वे इस हद तक उनका बलात्कार करेंगे कि वे फिर किसी पुरुष से संबंध नहीं बना पाएंगी और न ही जिंदगी में कभी यूक्रेनी बच्चा पैदा कर पाएंगी। ” 25 वर्षीय एक महिला ने कॉल कर बताया कि उसके सामने ही उसकी 16 साल की बहन के साथ सड़क पर बलात्कार किया। इस दौरान रूसी सैनिक चिल्ला रहे थे कि यह हर नाजी वेश्या के साथ होगा।
  • यूक्रेनी महिलाएं खुद को बना रहीं बदसूरत –
    यूक्रेन (Ukraine) की महिला सांसद लेसिया वासिलेंको ने ट्वीट कर कहा कि रूसी सैनिक यहां 10 तक की लड़कियों के साथ दरिंदगी कर रहे हैं। आम लोगों का कत्लेआम कर लूटपाट कर रहे हैं। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में एक तस्वीर शेयर की, जिसमें महिला के शरीर पर जलाकर स्वास्तिक का चिन्ह बनाया गया था। सांसद ने लिखा,’महिला से बलात्कार करने के बाद हत्या की गई। उसके शरीर पर प्रताड़ना के निशान हैं। मेरे शब्द नहीं हैं। मेरा दिमाग गुस्सा, डर और नफरत की वजह से काम नहीं कर रहा है।’

रूसी (Russia) सैनिकों की वहशीपन से बचने के लिए महिलाएं अपने बाल काट रहीं हैं। खुद को बदसूरत बना रही हैं। कीव से 50 मील दूरी पर एक छोटा सा गांव इवानकीव है, जिसे रूसी सैनिकों ने कब्जे में ले लिया था। इवानकीव की डिप्टी मेयर मैरीना बेसचस्तना ने कहा कि यहां रूसी सैनिकों ने लड़कियों के साथ बेहद क्रूरता दिखाई है। जान बचाने के लिए बेसमेंट में छिपी लड़कियों को बाल से खींचकर बाहर निकाला गया और फिर उनका रेप किया। इससे बचने के लिए अब यहां की लड़कियां खुद को बदसूरत बनाने के लिए बाल कटवा रहीं हैं। उन्हें लगता है कि अगर वो अट्रैक्टिव नहीं दिखेंगी तो रूसी सैनिकों की हैवानियत से बच जाएंगी।

  • संयुक्त राष्ट्र में गूंजा यह मुद्दा –
    संयुक्त राष्ट्र के सामने यूक्रेन (Ukraine) के मानवाधिकार समूह ने बताया कि रूसी सैनिक बलात्कार को युद्ध के हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने एक वीडियो के माध्यम से शीर्ष निकाय को स्थिति की गंभीरता को ​दिखाया। यूक्रेन के मानवाधिकार समूह ने कहा कि हिंसा और बलात्कार को अब यूक्रेन (Ukraine) के खिलाफ हथियार के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा हो। हालांकि, रूस के सैनिकों ने इस बात से इनकार किया है।
  • यूक्रेन (Ukraine) से जान बचाकर भागी महिलाएं नहीं हैं सुरक्षित –
    यूक्रेन (Ukraine) से जान बचाकर दूसरे देश में शरण लेने वाली महिलाओं और लड़कियों के साथ दरिंदगी होने की भी खबरें आ रही हैं। रूस के हमला करने से लेकर अब तक 40 लाख से ज्यादा लोगों ने यूक्रेन छोड़कर भाग गए हैं। इनमें सबसे अधिकांश संख्या महिलाओं और बच्चों की है। अब यूक्रेन के शरणार्थी बच्चे और महिलाएं तस्करी और सेक्शुअल अटैक के शिकार हो रहे हैं।