Tesla घिरी यौन उत्पीड़न से, 6 महिलाओं ने लगाया sexual harassment का आरोप…

Tesla घिरी यौन उत्पीड़न से, 6 महिलाओं ने लगाया Sexual harassment का आरोप

0
638
Sexual Harassment
इलॉन मस्क

मंगलवार 14 दिसंबर को टेस्ला (Tesla) की 6 महिला कर्मचारियों ने उनके सेक्शुअल हैरसमेंट (Sexual harassment) का आरोप लगाया है. कि टेस्ला (Tesla) के कैलिफोर्निया प्लांट और दूसरी फैसिलिटीज में यौन शोषण का कल्चर बढ़ता जा रहा है.

इलेक्ट्रिक व्हीकल और क्लीन एनर्जी के क्षेत्र में क्रांतिकारी काम कर रहे बिजनेसमैन इलॉन मस्क को पूरी दुनिया में आज कौन नहीं जनता, पूरी दुनिया में सराहा जाता है. लेकिन उनकी कंपनी टेस्ला (Tesla) यौन उत्पीड़न (Sexual harassment) के आरोपों में घिरती दिख रही है. मंगलवार 14 दिसंबर को टेस्ला (Tesla) की 6 महिला कर्मचारियों ने उनके सेक्शुअल हैरसमेंट (Sexual harassment) का आरोप लगाया है.
दरअशल, इन महिलाओं के मुताबिक इस ‘कल्चर’ में गलत तरीके से छूना, सेक्सिस्ट कमेंट्स करना और शिकायत करने पर बदला लेना शामिल है.

Tesla car

शिकायत करने वाली 6 महिलायें में से 5 टेस्ला की कर्मचारी –
आपको बता दे कि शिकायत दर्ज करने वाली 6 महिलाओं में से 5 टेस्ला (Tesla) की फ्रीमोंट फैक्ट्री की कर्मचारी रही हैं. इनमे से एक महिला साउथ कैलिफोर्निया में कंपनी के सर्विस सेंटर्स की कर्मचारी रह चुकी है. हालाँकि इन सभी ने कैलिफोर्निया के कोर्ट में अलग-अलग मुकदमे दायर किए हैं. लेकिन इन आरोपों से कंपनी के फाउंडर और सीईओ इलॉन मस्क भी नहीं बच सके. एक महिला कर्मचारी ने दावा किया है कि इलॉन मस्क के ट्वीट्स सेक्स और ड्रग्स से प्रेरित हैं.

मिशैल क्यूरेन (Michala Curran) का आरोप –
मिशैल क्यूरेन (Michala Curran) का आरोप है कि टेस्ला (Tesla) के फ्रीमोंट फैक्ट्री में नौकरी करने के कुछ ही हफ़्तों बाद उनके सुपरवाइजर और सहकर्मियों ने उनके चेहरे और शरीर पर भद्दी व असामान्य टिप्पणियां करना शुरू कर दिया था. मिशैल का कहना है कि ”एक बार उनके एक सहकर्मी ने उनसे ज़बरदस्ती करने की भी कोशिश की थी. उस सहकर्मी का कहना था कि यहां फैक्ट्री के पार्किंग लॉट में अक्सर सहकर्मी शारीरिक संबंध बनाते हैं. मिशैल ने कहा कि इस तरह के अनुभवों के चलते दो महीने बाद ही उन्हें नौकरी छोड़नी पड़ी.”

Tesla car

ऐलिसा ब्लिकमैन (Alisa Blickman) का आरोप –
महिला कर्मचारी ऐलिसा ब्लिकमैन (Alisa Blickman) ने कहा कि उन्हें कुछ विशेषाधिकारों और लाभों से वंचित कर दिया गया. क्योंकि उन्होंने मोलेस्टेशन की शिकायत की थी, और शिकायत दर्ज करने के बाद उन्हें परेशान किया गया. ऐलिसा का कहना है कि विशेषाधिकार थे जो इन घटनाओं पर चुप रहने वाली महिलाओं को मिलते हैं. वहीं सीधे इलॉन मस्क पर सेक्शुअल हैरसमेंट (Sexual harassment) का आरोप लगाने वाली ईडेन मेडरॉस (Eden Mederos) ने कहा कि वो साथी कर्मचारियों के साथ घटिया जोक्स करते हैं.

इन आरोपों के साथ कोर्ट में जो याचिकाएं दायर की गई –
याचिका में लिखा है, कि “हालांकि टेस्ला कंपनी सार्वजनिक रूप से दावा करती है कि वो अपने कर्मचारियों के लिए एक सुरक्षित और सम्मानजनक वातावरण को बढ़ावा देती है. लेकिन सच्चाई ये है कि वर्षों से टेस्ला ने अपने फ्रेमोंट कारखाने की सुविधाओं में काम करने वाली महिलाओं को बड़े पैमाने पर यौन उत्पीड़न की भयावह स्थिति के अधीन किया है.”

शिकायते आखिर क्यों दर्ज नहीं होतीं?
स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक फ्रेमोंट प्लांट में लगभग 10 हजार लोग काम करते हैं. यहां कथित तौर पर लंबे समय से नस्लीय और यौन उत्पीड़न (Sexual harassment) की घटनाएं हो रही हैं. और शिकायतें इसलिए अदालत तक नहीं पहुंच पातीं, क्योकि टेस्ला के फुल-टाइम कर्मचारी एक एग्रीमेंट साइन करवाते हैं जिसमें वर्कप्लेस के विवादों को कंपनी के भीतर ही निपटा लेने वाले क्लॉज़ शामिल होते हैं.

वैसे आपको बता दे कि इन गंभीर आरोपों पर टेस्ला (Tesla) कंपनी का कोई औपचारिक जवाब नहीं आया है.