धर्म भाई बनकर नाजायज संबंधों के वीडियो बनाया, ब्लैकमेलिंग के बाद युवती की हत्या…

धर्म भाई बनकर नाजायज संबंधों के वीडियो बनाया, ब्लैकमेलिंग के बाद युवती की हत्या...

0
376
Brother Sister
नाबालिग बहन (Sister) की कोख में पल रहा भाई (Brother) का भ्रूण! डीएनए से हुआ खुलासा...

जयपुर में 24 साल की एक युवती से नाजायज संबंधों के वीडियो बनाकर ब्लैकमेलिंग के बाद हत्या का मामला सामने आया है। आरोपी अजय बैरवा के खिलाफ मृतका युवती की मां ने जयपुर के प्रताप नगर थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया है। आरोपी फरार है, मृतका युवती दौसा जिले में सदर थाना क्षेत्र में एक गांव की रहने वाली थी।

मृतका की माँ का आरोप है कि अजय बैरवा ने पढ़ाई के बहाने नजदीकियां बढ़ाकर उनकी बेटी को धर्म की बहन बना रखा था। आरोपी अजय बैरवा दौसा में ही सिकराय तहसील में अगावली गांव में रहने वाला है। पढ़ाई के बहाने अजय बैरवा ने युवती के घर भी आना जाना शुरु कर दिया। धर्म भाई बनने की आड़ में अजय ने युवती से अवैध शारीरिक संबंध बनाए। युवती का देहशोषण कर मोबाइल फोन से वीडियो भी बनाया, वीडियो वायरल करने की धमकियां देकर अजय ने युवती को ब्लैकमेल कर पैसों की डिमांड करना शुरु कर दिया।

ब्लैकमेलिंग और बदनामी के डर से पिता ने खुदकुशी कर ली –
मां का आरोप है कि अजय ने मृतक के घर वालो से खुद की जाति छिपाकर अपना नाम बताया था। अजय बैरवा मृतका को मोबाइल में बनाये गए वीडियो से ब्लेकमेल करता था, ब्लेकमेलिंग से परेशान होकर बेटी ने अपने माता पिता को आपबीती बताई। लेकिन, समाज में बदनामी के डर से माता पिता चुप रहे। वे अजय का विरोध नहीं कर सके। युवती ने कई बार अजय के चंगुल से निकलने की कोशिश की। लेकिन, अजय मजबूरी का फायदा उठाता रहा और युवती और उसके परिवार वालो से पैसे लेता रहा, इससे परेशान होकर युवती के पिता ने कुछ महीनों पहले खुदकुशी कर ली थी।

कम्पीटिशन की तैयारी के बहाने अपने साथ रखता था –
करीब 15-20 दिन पहले अजय बैरवा उनकी बेटी को कम्पीटिशन एग्जाम की तैयारी करने के बहाने जयपुर ले गया। दोनों प्रताप नगर में गोदावरी अपार्टमेंट में रहने लगे। इस बीच 3 अक्टूबर को बेटी ने दो तीन बार अपनी मां को फोन कर बताया कि वह घर आ रही है। कपड़े भी पैक है, लेकिन अजय नहीं आने दे रहा है। वह घर से पैसे मंगवाने का दबाव डाल रहा है। अगर पैसे नहीं दिये तो आपत्तिजनक वीडियो भी वायरल करने की धमकी दे रहा है।

इसके बाद रात 9 बजे के आसपास अजय ने युवती की मां को फोन कर बेटी की मौत की खबर दी। खबर सुनते ही वह घबरा गई। लेकिन वह अकेली होने की वजह से तुरंत जयपुर नहीं आ सकी। अगले दिन वहां पुलिस थाने में मदद के लिए पहुंची। तब जयपुर भेज दिया। यहां हत्या का केस दर्ज करवाया। जिसकी जांच प्रताप नगर थानाप्रभारी बलबीर कस्वां कर रहे है।