एमएस धोनी जी मेरी रिक्वेस्ट है कि रिटायरमेंट का विचार…- लता मंगेशकर ने क्यों कहा?

0
625
महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni)
Lata Mangeshkar & MS Dhoni (internet Edited Pic)

इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया परन्तु सेमी फाइनल में इंडिया बाहर हो गई और फिर शुरू हुआ कयासों का दौर और अलग-अलग लोग तरह तरह की बातें करने लगे। कुछ लोगों का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni) अब आगे नहीं खेल पाएंगे क्योंकि वो स्लो खेलते है और कई लोगों का कहना है कि धोनी अब सन्यास ले लेंगे परन्तु ऐसे भी कई दिग्गज है जो महेंद्र सिंह धोनी का बचाव करते नजर आये और उनमे से एक है लता मंगेशकर जिन्होंने धोनी को अभी खेलते रहने की सलाह दी है।

हुआ यह कि 240 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही टीम इंडिया का वर्ल्ड कप का सपना महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni) के 49वें ओवर में रनआउट होने के साथ ही टूट गया। इसके बाद से ही धोनी के करियर को लेकर कयास लगने लगे। इस बीच लता मंगेशकर ने ट्वीट किया-

लता ने टीम इंडिया के लिए लिखा, ‘‘कल भले ही हम जीत ना पाए हों, लेकिन हम हारे नहीं हैं। गुलजार साहब का क्रिकेट के लिए लिखा हुआ ये गीत मैं हमारी टीम को डेडीकेट करती हूं।’’

Kal bhalehi hum jeet na paaye ho lekin hum haare nahi hain.Gulzar sahab ka cricket ke liye likha hua ye geet main hamari team ko dedicate karti hun. https://t.co/pCOy7M1d1Y 
 — Lata Mangeshkar (@mangeshkarlata) July 11, 2019

अगले ट्वीट में लता जी ने लिखा, ‘‘नमस्कार एमएस धोनीजी। आजकल मैं सुन रही हूं कि आप रिटायर होना चाहते हैं। कृपया आप ऐसा मत सोचिए। देश को आप के खेल की जरूरत है और मेरी भी रिक्वेस्ट है कि रिटायरमेंट का विचार भी आप मन में मत लाईए।’’

Namaskar M S Dhoni ji.Aaj kal main sun rahi hun ke Aap retire hona chahte hain.Kripaya aap aisa mat sochiye.Desh ko aap ke khel ki zaroorat hai aur ye meri bhi request hai ki Retirement ka vichar bhi aap mann mein mat laayiye.@msdhoni
— Lata Mangeshkar (@mangeshkarlata) July 11, 2019

धोनी की अर्धशतकीय पारी-
इंग्लैंड में हो रहे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 221 पर सिमट गई। टॉप ऑर्डर पूरी तरह फेल रहा। रोहित शर्मा, लोकेश राहुल और विराट कोहली केवल 1-1 रन बनाकर आउट हुए। मैच में महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni) ने 50 रन और रविंद्र जडेजा ने 77 रन बनाए थे।
सेमी फाइनल में हार के बाद कई बड़े खिलाडियों ने धोनी की तारीफ भी की तथा कुछ लोगों ने एम्पायर के निर्णय पर भी सवाल उठाये।