आखिर कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की माँ की बात कोई क्यों नहीं सुन रहा…

0
377
कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari)
Kamlesh tiwari's mother Picture Credit (NDTV)

हिन्‍दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या के बाद पुलिस ने कुछ संदिग्ध आरोपियों को पकड़ा लिया है परन्तु कमलेश तिवारी की माँ का कहना है कि उसके बेटे की हत्या करवाने वाला एक BJP का नेता ही है. इसके अलावा मृतक के बेटे ने भी जांच एजेंसी पर सवाल उठाये है.

इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) के परिजनों से रविवार को मुलाकात की. कमलेश तिवारी की मां ने इस मुलाकात पर भी असंतोष जताया.
मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार को पूरी मदद का आश्‍वासन देते हुए कहा कि सरकार इस गंभीर मामले की गहराई से जांच कर रही है और इसके दोषी लोगों को बख्‍शा नहीं जाएगा. हालांकि, तिवारी की मां कुसुमा ने इस मुलाकात पर असंतोष जताते हुए कहा कि पुलिस के दबाव की वजह से उन्हें मजबूरन मुख्यमंत्री से मिलने जाना पड़ा. उनका कहना है कि बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के हावभाव उनकी उम्मीद के मुताबिक नहीं थे.

जब संवाददाताओं ने सवाल किया कि क्या वह मुख्यमंत्री से हुई मुलाकात से संतुष्ट हैं, कुसुमा ने कहा, ‘संतुष्ट क्या होंगे? हमने पूछा कि क्यों सुरक्षा हटाई गई, क्यों उसका बेरहमी से कत्ल हुआ. हिन्दू धर्म में 13 दिन कहीं बाहर नहीं निकला जाता है, मगर उनका आदेश था, इसलिये पुलिसवाले मेरे पीछे पड़े थे, तो हमें मजबूरी में मिलने जाना पड़ा.’ उन्होंने कहा, ‘हमारी इच्छा के मुताबिक न तो उनका हाव था न भाव. अगर संतुष्ट होते तो हमारा क्रोध क्यों उबलता? हम स्वयं तलवार उठाएंगे, अगर हमें इंसाफ नहीं मिला.’

कुसुमा ने भाजपा के एक स्थानीय नेता शिव कुमार गुप्ता पर जमीन के विवाद को लेकर अपने बेटे की हत्या का इल्जाम लगाया है, मगर अभी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. उधर मुख्‍यमंत्री से मुलाकात के बाद तिवारी की पत्‍नी किरण ने बताया कि योगी ने हरसम्‍भव कार्रवाई का आश्‍वासन दिया है. हम उनसे हुई मुलाकात से संतुष्‍ट हैं. इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का भी गठन किया गया है.

गौरतलब है कि हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को नाका हिंडोला स्थित खुर्शेदबाग इलाके में उनके घर के अंदर गला रेतकर और गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड के सिलसिले में बिजनौर निवासी आरोपियों मुफ्ती नईम काजमी और मौलाना अनवारुल हक के साथ गुजरात में सूरत के रहने वाले फैजान यूनुस, मोहसिन शेख और राशिद अहमद को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई है.

यदि कमलेश तिवारी की माँ की माने तो पता चलता है कि पुलिस उस दिशा में काम ही नहीं कर रही जिस दिशा में वो इशारा कर रही है और कमलेश तिवारी के बेटे की भी माने तो उनको राज्य की पुलिस पर विश्वास नहीं है.