Jhulan Goswami ने 20 साल के international cricket career को कहा अलविदा, सीरीज जीत के साथ मिली विदाई…

Jhulan Goswami Retirement: झूलन गोस्वामी ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ खेल जिसमें उन्होंने अपने हिस्से के 10 ओवर में 30 रन देकर 2 विकेट लिए और 3 ओवर मैडन भी थे।

0
498
Jhulan Goswami
Jhulan Goswami ने 20 साल के international cricket career को कहा अलविदा, सीरीज जीत के साथ मिली विदाई...

Jhulan Goswami : नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे सीनियर तेज गेंदबाज 39 साल की झूलन गोस्वामी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ लार्ड्स में अपना आखिरी वनडे मैच खेला। झूलन टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट से पहले ही रिटायरमेंट ले चुकी थीं। भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड को तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप करते हुए झूलन गोस्वामी को शानदार तरीके से विदाई दी। भारतीय महिला टीम ने हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में बेजोड़ प्रदर्शन किया और तीसरे वनडे में 16 रन से जीत हासिल करते हुए इस टीम का क्लीन स्वीप कर दिया।

झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami)

क्रिकेट के प्रति जुनून से ओत-प्रोत एक दुबली-पतली किशोरी जो अपने गृहनगर चकदाहा से कोलकाता में अभ्यास के लिए भीड़-भाड़ वाली लोकल ट्रेन में प्रतिदिन 2.5 घंटे से भी लम्बी यात्रा तय करती थी। उसके गेंदबाजी एक्शन और लंबे शरीर ने उसके कोच सपन साधु को आश्वस्त किया कि वह एक बेहतरीन तेज गेंदबाज बन सकती है और एक बार माता-पिता का समर्थन प्राप्त करने के बाद, उसने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

यदि आप क्रिकेट के फैन हैं, तो इस बात की प्रबल संभावना है कि आपने कम से कम एक बार तो भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) का नाम जरूर सुना होगा।

लगभग 20 वर्षों का शानदार करियर और अपने करियर के चरम पर महिला क्रिकेट में सबसे तेज गेंदबाज, झूलन (Jhulan Goswami) अब महिला एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में शीर्ष पर हैं। जी हां, एक भारतीय महिला तेज गेंदबाज अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की सूची में शीर्ष पर है।

झूलन गोस्वामी बायोग्राफी – Jhulan Goswami Biography

पूरा नामझूलन निशित गोस्वामी (Jhulan Goswami)
निक नेमबाबुल, चकदाहा एक्सप्रेस
पिता का नामनिशित गोस्वामी
माता का नामझरना गोस्वामी
भाई का नामकुनाल गोस्वामी
प्रोफेशनक्रिकेटर ( भारत )
भूमिकागेंदबाज ( Bowler )
जन्मतिथि25 नवंबर 1982
उम्र39 वर्ष ( 2022 में )
होमटाउनचकदाहा, पश्चिम बंगाल, भारत
जन्म स्थानचकदाहा, जिला नदिया, पश्चिम बंगाल
आंखों का रंगकाला
कद (लंबाई)180 से॰मी॰ ( 5 फीट 11 इंच )
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
सैलरी50 लाख सालाना (A ग्रेड कॉन्ट्रैक्ट)
कोचसपन साधु
झूलन गोस्वामी बायोग्राफी – Jhulan Goswami Biography

झूलन गोस्वामी प्रारंभिक जीवन और परिवार – Jhulan Goswami Early Life

Jhulan Goswami Early Life: झूलन गोस्वामी का जन्म 25 नवंबर 1982 को पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के चकदाहा शहर में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम निशित गोस्वामी और माता का नाम झरना गोस्वामी है। उनका एक भाई भी है जिसका नाम कुनाल गोस्वामी है। झूलन ने 15 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया था। क्रिकेट में शुरुआत करने से पहले वह फुटबॉल की प्रशंसक थी। झूलन को क्रिकेट में दिलचस्पी तब हुई जब उन्होंने 1992 का क्रिकेट विश्व कप टीवी पर देखा।

इसके बाद 1997 के महिला क्रिकेट विश्व कप का फाइनल मैच जोकि कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान पर खेला गया था, उसमें झूलन एक बालगर्ल का काम कर रही थी। मैच जीतने के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के विक्ट्री लैप को देखने के बाद उन्होंने इस खेल में ओर अधिक रुचि लेना शुरू किया और भारत के लिए विश्व कप जीतने का सपना देखा।

चूंकि उस समय चकदाहा में क्रिकेट खेलने की कोई सुविधा नहीं थी, इसलिए झूलन को लगभग 2.5 घंटे लोकल ट्रेन में यात्रा करके कोलकाता जाना पड़ता था। उनके कोच सपन साधु बहुत सख्त थे और समय पर मैदान न पँहुचने पर उस दिन की प्रेक्टिस मिस करनी पड़ती थी। उनके कोच ने ही उन्हें गेंदबाज बनने की सलाह दी थी और आज वह विश्व की प्रसिद्ध महिला गेंदबाज हैं। अप्रैल 2018 में, उनके सम्मान में एक भारतीय डाक टिकट जारी किया गया था।

झूलन गोस्वामी करियर – Jhulan Goswami Career

झूलन निशित गोस्वामी एक भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और भारत की राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान हैं। एक ऑलराउंडर जो दाएं हाथ से बल्लेबाजी करती है और दाएं हाथ से मध्यम तेज गेंदबाजी करती है, गोस्वामी को अब तक की सबसे महान महिला तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है।

यही नहीं उन्हें महिला क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज गेंदबाजों में से एक और सबसे तेज समकालीन गेंदबाजों में से एक भी माना जाता है। कोलकाता में अपना प्रशिक्षण समाप्त करने के तुरंत बाद, झूलन गोस्वामी को बंगाल महिला क्रिकेट टीम में बुलाया गया।

झूलन गोस्वामी टेस्ट क्रिकेट करियर – Jhulan Goswami Test Cricket Career

झूलन गोस्वामी ने अपना टेस्ट डेब्यू इंग्लैंड के खिलाफ 14 जनवरी 2002 लखनऊ में किया था। झूलन का टेस्ट में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन तब आया जब उन्होंने मिताली राज के साथ मिलकर 2006-07 सीज़न में भारतीय महिला क्रिकेट टीम को इंग्लैंड के खिलाफ पहली टेस्ट श्रृंखला जिताने में अहम योगदान दिया था।

उसी शृंखला के दौरान, झूलन ने पहले टेस्ट मैच में जोकि लीसेस्टर में खेला गया था में नाइटवॉचमैन के रूप में अर्धशतक बनाया और इसके बाद दूसरे मैच में जो टुनटन में खेल गया था अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ मैच प्रदर्शन किया 78 रन देकर 10 विकेट पहली पारी में 33 रन पर 5 विकेट और दूसरी पारी 45 रन देकर 5 विकेट। उनके नाम 12 टेस्ट मैचों में कुल 44 विकेट हैं।

2007 में झूलन भारत में एफ्रो-एशिया टूर्नामेंट में एशियाई टीम की सदस्य बनी और उन्होंने आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर का खिताब भी जीता था। (जब किसी भी भारतीय पुरुष क्रिकेटर को व्यक्तिगत पुरस्कार नहीं मिला)। 2008 में, उन्होंने मिताली राज से टीम की कप्तानी संभाली और 2011 तक कप्तान बनी रहीं।

झूलन गोस्वामी एकदिवसीय क्रिकेट करियर – Jhulan Goswami ODI Cricket Career

साल 2002 में उनको चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने का मौका मिला। उस समय उनकी उम्र मात्र 19 वर्ष थी। उन्होंने 2007 में आईसीसी महिला खिलाड़ी का वर्ष का पुरस्कार जीता। 2008 में, वह एशिया कप में एकदिवसीय मैचों में 100 विकेट तक पहुंचने वाली चौथी महिला खिलाड़ी बनीं। 2011 में सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर के लिए एम.ए. चिदंबरम ट्रॉफी जीती। झूलन को जनवरी 2016 में ICC महिला ODI गेंदबाजी रैंकिंग में पहले स्थान पर रखा गया था।

मई 2017 में, झूलन एकदिवसीय मैचों में तब अग्रणी विकेट लेने वाली गेंदबाज बन गई, जब उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के कैथरीन फिट्ज़पैट्रिक को पछाड़ते हुए अपना 181 वां विकेट लिया। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में महिला चतुष्कोणीय श्रृंखला के दौरान यह उपलब्धि हासिल की। झूलन 2017 महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में पहुंचने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थी।

7 फरवरी 2018 को झूलन एकदिवसीय क्रिकेट में 200 विकेट तक पहुंचने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनीं। उन्होंने किम्बर्ले में तीन मैचों की श्रृंखला के दूसरे एक दिवसीय मैच के दौरान दक्षिण अफ्रीका की सलामी बल्लेबाज लौरा वोल्वार्ड्ट का विकेट लेकर यह उपलब्धि हासिल की।

उन्होंने अब तक 200 मैचों में 22.08 की औसत से 250 विकेट लिए हैं जिसमें दो 5 विकेट और सात 4 विकेट भी शामिल हैं। एकदिवसीय मैचों में उनके नाम 200 मैचों में कुल 1226 रन भी हैं। एकदिवसीय मैचों में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन साल 2011 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 31 रन देकर 6 विकेट लिए है लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण यह मैच भारतीय टीम हार गई थी। उन्होंने 25 एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम का नेतृत्व भी किया है।

सितंबर 2018 में, श्रीलंका के खिलाफ, उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 300 वां विकेट लिया। नवंबर 2020 में, झूलन को ICC महिला ODI क्रिकेटर ऑफ़ द डिकेड अवार्ड के लिए नामांकित किया गया था।

झूलन गोस्वामी T20 क्रिकेट करियर – Jhulan Goswami T20 Cricket Career

झूलन गोस्वामी ने अपने T20 क्रिकेट करियर की शुरुआत 5 अगस्त 2006 को इंग्लैंड के खिलाफ की थी। उन्होंने 68 T20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 21.94 की औसत से कुल 56 विकेट लिए हैं इसमें एक 5 विकेट भी शामिल है, जो उन्होंने अपनी सरजमीं पर खेलते हुए साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया लिए थे, और साथ ही 10.94 की औसत से 405 रन बनाए हैं।

जिसमें उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ नाबाद 37 रन है। झूलन ने अपना अंतिम टी20 मैच 10 जून 2018 बांग्लादेश के खिलाफ खेल था और इसके बाद अगस्त 2018 में उन्होंने T20 क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी।

कुल मिलाकर उन्होनें 280 मैचों में 350 अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए हैं और तीन 50 के साथ 1922 रन बनाए हैं।

झूलन गोस्वामी महिला क्रिकेट विश्व कप – Jhulan Goswami Women’s Cricket World Cup

जनवरी 2022 में, उन्हें न्यूजीलैंड में 2022 महिला क्रिकेट विश्व कप के लिए भी भारत की टीम में शामिल किया गया है। इस विश्व कप के दौरान झूलन 200वां वनडे मैच खेलने वाली पहली महिला गेंदबाज तो बनी ही, साथ ही इतने वनडे मैच खेलने वाली वो महिला क्रिकेट के इतिहास की सिर्फ दूसरी खिलाड़ी भी हैं। यही नहीं विश्व कप में सबसे ज्यादा विकेट का रिकॉर्ड भी वो अपने नाम कर चुकी हैं। इसके अलावा 250 वनडे विकेट हासिल करने की उपलब्धि भी उन्होंने इसी वर्ल्ड कप के दौरान हासिल की है।

झूलन गोस्वामी रिकार्ड | Jhulan Goswami Record

– एक मैच में दस विकेट लेने वाली सबसे युवा खिलाड़ी (23y 277d), महिला टेस्ट मैच
– सर्वाधिक एलबीडब्ल्यू विकेट (18), महिला टेस्ट मैच
– करियर में सर्वाधिक गेंदें फेंकी (9798), महिला एकदिवसीय मैच
– सबसे ज्यादा एलबीडब्ल्यू विकेट (55), महिला एकदिवसीय मैच
– महिला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 200 विकेट लेने वाली पहली गेंदबाज
– महिला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज
– महिला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट विश्वकप में सर्वाधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज
– झूलन गोस्वामी पुरस्कार, सम्मान और उपलब्धियां
– आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर (2007)
– भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान (2008-2011)
– सबसे तेज गेंदबाज
– अर्जुन पुरस्कार (2010)
– पद्म श्री (2012)

झूलन गोस्वामी कोचिंग करियर – Jhulan Goswami Coaching Career

झूलन गोस्वामी को भारतीय महिला क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रमेश पोवार के तहत गेंदबाजी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था। वह भारतीय टीम में बतौर खिलाड़ी-कोच खेल रही हैं।

झूलन गोस्वामी बायोपिक अनुष्का शर्मा – Jhulan Goswami Biopic

Jhulan Goswami Biopic: झूलन गोस्वामी ने 19 सितंबर 2017 को कहा कि उनके जीवन और उनकी सफलता की कहानी से प्रेरित एक बायोपिक बनाई जा रही है जिसका नाम ‘चकदाहा एक्सप्रेस‘ है। बायोपिक का निर्देशन सुशांत दास द्वारा किया जाएगा। यह भी तय है कि अभिनेत्री अनुष्का शर्मा बायोपिक में झूलन गोस्वामी की भूमिका निभाएंगी।

यह बायोपिक झूलन गोस्वामी की कोलकाता के विवेकानंद पार्क से लंदन के लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान तक की यात्रा के बार में बताएगी, जहां भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप फाइनल हार गई थी। झूलन पहली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं जिनके नाम पर बायोपिक बन रही है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह फिल्म Netflix पर स्ट्रीम की जाएगी।

झूलन गोस्वामी पति – Jhulan Goswami Husband

झूलन गोस्वामी पति: झूलन गोस्वामी के पति बारे में बात करें तो आपको बताता चलूँ कि झूलन ने अभी तक शादी नहीं की है। वो अविवाहित हैं।

झूलन गोस्वामी का संन्यास – Jhulan Goswami Retirement

Jhulan Goswami Retirement: झूलन गोस्वामी ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ खेल जिसमें उन्होंने अपने हिस्से के 10 ओवर में 30 रन देकर 2 विकेट लिए और 3 ओवर मैडन भी थे।

THE HALF WORLD – YOU TUBE

पूरा आर्टिकल पढ़ने के लिए बहुत बहुत सुक्रिया हम आशा करते है कि आज के आर्टिकल Jhulan Goswami Biography से जरूर कुछ सीखने को मिला होगा, अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे शेयर करना ना भूले और ऐसे ही अपना प्यार और सपोर्ट बनाये रखे THEHALFWORLD वेबसाइट के साथ चलिए मिलते है नेक्स्ट आर्टिकल में तब तक के लिए अलविदा, धन्यवाद !