हाथरस दुष्कर्म और हत्या के बाद, पुलिस और प्रशासन का खेल देख चौंक जाओगे…

0
362
रेप
मुस्लिम युवक ने धर्म छुपा कर की शादी, युवती के साथ जबरन धर्म परिवर्तन, गर्भपात व रेप किया !

हाथरस दुष्कर्म (Hathras gangrape) और हत्या के बाद इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली घटना है कि लड़की का अंतिम संस्कार रात को बिना घर वालों कि अनुमति के ही कर दिया गया। अब लड़की के परिजनों का आरोप है कि अंतिम संस्कार में उनकी अनुमति नहीं ली गई थी।

पूरा मामला यहाँ समझे
घटना 14 सितंबर सुबह कि है जब लड़की अपनी मां और भाई के साथ खेत पर गई थी। उसके भाई को मां ने दूसरी तरफ भेज दिया, और वो अपनी बेटी के साथ काम करने लगी. कुछ देर बाद मां ने पीछे पलटकर देखा, तो बेटी उन्हें नहीं दिखी. उन्होंने सोचा कि हो सकता है कि वो घर चली गई होगी, लेकिन फिर उन्हें लड़की की गुलाबी रंग की चप्पल दिखी। उसे खोजा गया। करीब 100 मीटर की दूरी पर, खेतों में एक पेड़ के पास लड़की मिली। खून से लथपथ। घरवाले उसे तुरंत ई-रिक्शा में अस्पताल लेकर गए। सफदरगंज में भी इलाज हुआ, लेकिन घटना के 15 दिन बाद लड़की की मौत हो गई।

पुलिस और प्रशासन पर सवाल ?
घटना के बाद लड़की की रीढ़ की हड्डी टूटने, जीभ कटने और गैंगरेप होने की बात सामने आई थी, जिसे 29 सितंबर को पुलिस ने खारिज कर दिया। हाथरस के एसपी विक्रांत वीर ने कहा है कि न तो हाथरस के, न ही अलीगढ़ के डॉक्टर ने इस बात की पुष्टि की है कि मृतका के साथ सेक्सुअल असॉल्ट हुआ है। इस पूरे मामले की जांच डॉक्टरों और फॉरेंसिक टीम से कराई जाएगी। एसपी ने यह भी कहा है कि प्राइवेट पार्ट में चोट लगने की बात भी गलत है। हाथरस दुष्कर्म (Hathras gangrape) और हत्या के बाद पुलिस के बाद पुलिस और प्रशासन ने ही पीड़िता का रात को ही अंतिम संस्कार कर दिया जिसके बाद पुलिस पर भी सवाल उठ रहे है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3 सदस्यों की एसआईटी बनाकर 7 दिन में रिपोर्ट देने को कहा है। एसआईटी के अध्यक्ष गृह सचिव भगवान स्वरूप बनाए गए हैं। डीआईजी चंद्रप्रकाश और आगरा पीएससी की सेनानायक पूनम भी इसमें शामिल हैं।