जयपुर की बेटी अवनि ने देश के नाम किया गोल्ड, छोटे से जीवन का बड़ा संघर्ष…

0
251
Gold Medal
Avni Gold medalist

टोक्यो पैरालिंपिक में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने वाली अवनि (Avani) लेखरा ने देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन कर दिया है। अवनि लेखरा ने 10 मीटर एयर राइफल में भारत को टोक्यो पैरालिंपिक में पहला गोल्ड दिलाया है। इतिहास बनाने वाली अवनि का साल 2012 में महाशिवरात्रि के दिन एक्सीडेंट हो गया था। परन्तु जिंदगी से जंग न हारने वाली अवनि आज गोल्डन गर्ल के नाम से मशहूर हो चुकी है। अवनि जयपुर की रहने वाली है।

सिर्फ 14 साल की उम्र से अपने करियर को दिशा देने वाली अवनि का जीवन काफी मुश्किलों से गुजरा है। परन्तु उन्ही मुश्किलों को पार करते हुए अवनि ने फाइनल में 249.6 पॉइंट हासिल कर यूक्रेन की इरिना शेटनिक के रिकॉर्ड की बराबरी की। शूटिंग में गोल्ड जीतने के साथ ही अवनि भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गई, जिसने ओलिंपिक या पैरालिंपिक में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीता हो।

9 साल पहले कार एक्सीडेंट में अपने दोनों पैर गंवाने वाली अवनि काफी वक्त से व्हीलचेयर पर हैं। उनके पिता रेवेन्यू अपील अधिकारी हैं।
दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार अवनि के पिता प्रवीण लेखरा ने बताया कि ” वह एक्सीडेंट के बाद निराश हो चुकी थी। किसी से बात नहीं करती थी, पूरी तरह डिप्रेशन का शिकार हो गई थी, अवनि कमजोर होती जा रही थी, जिसकी वजह से वह कोई कार्य करने में सक्षम नहीं थी, मैं चाहता था कि अवनि किसी खेल का हिस्सा बने परन्तु एथलेटिक्स में नहीं भेज सका क्योंकि शरीर में उतनी ताकत नहीं बची थी, इसके बाद शूटिंग में कोशिश की। पहली बार तो अवनि गन उठाने में भी असमर्थ थी, मगर आज शूटिंग की वजह से टोक्यो पैरालिंपिक के पोडियम में राष्ट्रगान गूंजा।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दिनों-दिन भारतीय बेटियां देश को सम्मान दिला रही है खासकर टोक्यो पैरालिंपिक और ओलम्पिक में महिलाओं ने अपनी छाप छोड़ी है। इससे पहले भी महिलाओं ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है और कई मेडल देश के नाम किये है।

पैरालिंपिक और ओलम्पिक में देश का नाम रोशन करने वाली महिलाओं के नाम है- पीवी सिंधु, दीपा मलिक, भाविना पटेल, कर्णम मल्लेश्वरी, साइना नेहवाल, मैरिकॉम, साक्षी मलिक, मीराबाई चानू, लवलीना बोरगोहेन ।