क्या डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने नस्लीय टिप्पणी कर महिला सांसदों अपमान किया ?

0
660
डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump)
Donald Trump (Pic Credit-bbc.com)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) बोले और विवाद न हो ऐसा तो काम ही होता है अब यही विवाद उन्होंने सोशल मीडिया पर भी छेड़ दिया है। ट्रम्प ने रविवार को चार डेमोक्रेट महिला सांसदों पर नस्लीय टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि वे जिस देश से आती हैं, उन्हें वहीं लौट जाना चाहिए। अब ट्रम्प के दिए गए बयान को अमेरिका में रह रहे कई प्रजातियों के लोगों और प्रवासियों को खतरे के रूप में देखा जा रहा है।

हुआ यह कि ट्रम्प ने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर दिया जिसमें इन महिला सांसदों को प्रोग्रेसिव डेमोक्रेट कांग्रेसवुमन्स करार दिया। इधर इंटरनेशनल मीडिया का दावा है कि इन महिला सांसदों में न्यूयॉर्क की अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कॉर्तेज, मिनेसोटा की इल्हान उमर, मिशिगन की रशीदा तलैब और मैसाच्युसेट्स की अयाना प्रेसले शामिल हैं।


So interesting to see “Progressive” Democrat Congresswomen, who originally came from countries whose governments are a complete and total catastrophe, the worst, most corrupt and inept anywhere in the world (if they even have a functioning government at all), now loudly……
— Donald J. Trump (@realDonaldTrump) July 14, 2019

    ....and viciously telling the people of the United States, the greatest and most powerful Nation on earth, how our government is to be run. Why don’t they go back and help fix the totally broken and crime infested places from which they came. Then come back and show us how....
    — Donald J. Trump (@realDonaldTrump) July 14, 2019 

अब बात यह है कि ये चारों महिलाएं पहली बार कांग्रेस (अमेरिकी संसद) की सदस्य बनी हैं। हालाँकि ट्रम्प ने किसी सांसद का नाम नहीं लिया है परन्तु मीडिया का कहना है कि ट्रम्प का इशारा इनकी तरफ ही था।

‘महिला सांसद अमेरिकी लोगों का भड़का रहीं’
डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) का कहना है कि जिन देशों से ये महिला सांसद ताल्लुक रखती हैं, वहां की सरकारों पर संकट है। उन पर (सरकारों पर) भ्रष्टाचार के आरोप हैं। उन्हें (सरकारों को) दुनिया में हर जगह अयोग्य करार दे दिया गया है। महिला सांसद अमेरिकी लोगों को भड़का रही हैं। जबकि हमारा देश धरती पर सबसे महान और ताकतवर है।

ट्रम्प यह भी कहते हैं, ‘‘वे (सांसद) अपने देश ही क्यों नहीं लौट जातीं। उन्हें अपनी सरकार को पूरी तरह खत्म करने में मदद करना चाहिए। उन्हें वहां दंगाग्रस्त इलाकों में जाकर हकीकत देखना चाहिए। इसके बाद वे अमेरिका आएं और बताएं कि उन्होंने ये सब कैसे किया।’’

ट्रम्प और नस्लीय टिप्पणी
मीडिया की कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, राष्ट्रपति ट्रम्प पहले भी नस्लीय टिप्पणियां करते रहे है। पिछले साल उन्होंने अफ्रीकी देशों को बकवास करार देते हुए कहा था कि वहां से लोग केवल प्रवासी बनकर ही आते हैं। एक बार ट्रम्प ने यह भी कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा अमेरिका की धरती पर पैदा नहीं हुए, कानूनन उन्हें तो राष्ट्रपति बनने का हक नहीं है।
गौरतलब है कि अमेरिका में 2020 में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं और विपक्ष इस तरह की टिप्पणी को जमकर भुना रहा है।