नूपुर शर्मा से पहले सपना चौधरी को मौत के मुँह तक पहुंचा चुका Satpal Tanwar कौन है ?

नूपुर शर्मा से पहले सपना चौधरी को मौत के मुँह तक पहुंचा चुका Satpal Tanwar कौन है ?

0
209
Satpal Tanwar
नूपुर शर्मा से पहले सपना चौधरी को मौत के मुँह तक पहुंचा चुका Satpal Tanwar कौन है ?

भीमसेना के चीफ नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) को सोशल मीडिया पर बीजेपी (BJP) की नेता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को धमकाना और उन पर इनाम की घोषणा करना भारी पड़ गया है. सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) ने महिला नेता के खिलाफ अपमानजनक बातें भी कही थीं. सतपाल के इस तरह के बयान के बाद बीजेपी की यूथ विंग की अध्यक्ष सर्वप्रिया त्यागी ने उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई थी.

BJP की यूथ विंग ने करवाई FIR

Nupur Sharma (Photo – Social Media)

abp news की एक रिपोर्ट के अनुसार आपको बता दे कि पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एक फेसबुक वीडियो में भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) ने नुपुर शर्मा की जीभ काटने पर इनाम की घोषणा की है, सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) ने इनाम की राशी एक करोड़ रुपये रखी है. इसके साथ ही वीडियो में तंवर ने नूपुर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के साथ ही उन्हें धमकी दी थी. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर को कथित रूप से पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर की पैगंबर (Prophet Muhammad) पर कथित टिप्पणी के लिए उनके खिलाफ हिंसा करने के उकसावे और अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है.

बीजेपी यूथ विंग की अध्यक्ष सर्वप्रिया त्यागी ने सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) पर FIR दर्ज करवाई जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने भीम सेना चीफ के खिलाफ ये कार्रवाई की है. गुरुवार को स्पेशल सेल की साइबर सेल यूनिट ने तंवर को उनके घर से गिरफ्तार किया. साइबर सेल के एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने कहा, “हमने वीडियो का संज्ञान लिया. वीडियो में तंवर को नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के खिलाफ जानलेवा टिप्पणी करते हुए सुना जा सकता है और वह नफरत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं, हमने तंवर को गुड़गांव से गिरफ्तार किया, उस पर आईपीसी की धारा 506 (आपराधिक धमकी), 509 (एक महिला का अपमान) और 153 ए ( अलग-अलग समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.”

योगी सरकार पर भी की अमर्यादित टिप्पणियां

indiatv के अनुसार डीसीपी ईस्ट प्रमोद कुमार ने बताया कि आरोपी पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने समेत अन्य संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। भीम सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) ने नूपुर शर्मा पर कई अमर्यादित टिप्पणियां भी की थीं। तंवर ने योगी सरकार पर भी सवाल उठाए थे और कहा था कि कानपुर दंगे की असली मास्टरमाइंड नुपुर शर्मा है तो ऐसे में योगी सरकार ने उसे आरोपी क्यों नहीं बनाया।

सपना चौधरी ने हमला करवाया था सतपाल तंवर पर ?

Sapna Choudhary (photo – Social media)

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार सपना चौधरी (Sapna Choudhary) पर सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) पर हमला कराने के आरोप लगे थे, यह आरोप खुद सतपाल तंवर ने सपना चौधरी (Sapna Choudhary) पर लगाए थे, इस मामले में सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) को सपना चौधरी मामले में समझौता करने की धमकी पहले भी दी जा रही थी. सतपाल ने पुलिस को रिकॉडिंग देकर उस नामी बदमाश के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था. जिसको पुलिस ने भोपाल से गिरफ्तार किया था. और जेल भेज दिया था.

क्या था मामला ?

दरअशल, हुआ यूं था कि गुडगांव के खांडसा गांव में रहने वाले नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) पर देर रात 8-10 लोगों ने हमला कर दिया जब वे घर लौट रहे थे। जैसे-तैसे सतपाल तंवर अपनी जान बचाकर भागे और पुलिस को फोन किया। इतनी देर में हमलावरों ने उनकी एक्टिवा भी तोड़ फोड़ दी और भाग गए। उसके बाद पुलिस पहुंची और मामला दर्ज किया।

सपना चौधरी के खिलाफ SC/ST एक्ट का मामला दर्ज करा चुके है सतपाल तंवर


Sapna Choudhary (photo – Social media)

सपना चौधरी और सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) के बीच एक रागनी को लेकर विवाद चल रहा था। सपना चौधरी (Sapna Choudhary) ने 17 फरवरी 2016 को गुड़गांव के चक्करपुर इलाके में 17 फरवरी 2016 को एक रागिनी गाकर विवाद को जन्म दे दिया था। उन पर आरोप था कि उन्होंने रागिनी में जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया था। इस पर सतपाल तंवर ने 14 जुलाई 2016 को सपना चौधरी (Sapna Choudhary) के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया था।

मामला दर्ज होने के बाद सपना चौधरी (Sapna Choudhary) के खिलाफ फेसबुक पर एक अभियान चला. अभियान में आए लोगों के कमेंट्स से सपना चौधरी (Sapna Choudhary) परेशान हो गई थी। इसके बाद सपना ने 4 सितंबर को जहर खाकर सुसाइड करने की कोशिश की थी, जिसके कारण उन्हें कई दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा था।

कौन है सतपाल तंवर ?

Satpal Tanwar (Photo – Social Media)

सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, 21वीं सदी में नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) एक नाम ही नहीं बल्कि देश के करोड़ों बहुजनों-दलितों, शोषितों, पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों, किसानों, गरीबों, दुखियारों और महिलाओं की बुलंद आवाज हैं। उन्होनें बचपन से ही जातिवाद को आमने-सामने देखा और स्वयं भी झेला और जातिवाद के खिलाफ ललकार कर देश के दलितों की प्रखर आवाज बने हैं। तंवर दलित अधिकारों के लिए ही नहीं अपितु सम्पूर्ण मानवता के लिए काम करते हैं और उनकी अपनी एक सशक्त पहचान है। अपने क्रान्तिकारी स्वभाव, खतरनाक तेवर, बेखौफ व बेबाक अंदाज और बुद्धिजीवी विचारधारा से ओतप्रोत नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) को 21वीं सदी के नवाब, ब्ल्यू टाईगर, वन मैन आर्मी, किंग ऑफ माईन्ड, किंग ऑफ इंडिया, दलितों का राजा, किंग विदआउट ए क्राउन, लीजेण्ड इन द फ्लैश, लायन सेट फायरमैन, एंग्री यंग मैन, बिग बोस, इमेजनिंग इंडिया, संविधान रक्षक, भीम शेर, बब्बर शेर, नीला चीता, दलितों की बुलंद स्वतंत्र आवाज और भैयाजी आदि उपनामों से भी जाना जाता है।

Satpal Tanwar (Photo – Social Media)

नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) का जन्म 29 अक्तूबर 1984 को हरियाणा के गुड़गांव जिले के गांव खांड़सा में हुआ था। तंवर बचपन से ही विलक्षण प्रतिभा के धनी रहे हैं। उनके पिताजी भारतीय सेना से सेवानिर्वत हैं और माताजी गृहणी हैं। उन्होनें तमाम पारिवारिक और जातीय मुश्किलें झेलते हुए भी तंवर को उच्च शिक्षाएं दिलाईं। आर्मी जवान के घर में जन्म होने से बचपन से ही नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) के जहन में देशभक्ति की भावनाएं कूट-कूट कर भरी हुई थी। तंवर जब भी बात करते हैं तो उनके लिए राष्ट्र सर्वोपरि होता है। लेकिन जातिवाद के दंश ने उन्हें हमेशा परेशान किया। तंवर कहते हैं कि जातिवाद और धार्मिक उन्माद देश के लिए गम्भीर खतरा है और इसका जिम्मेदार आरएसएस है जो सदियों पुरानी मनुवादी कुटिल विचारधारा को जिन्दा रखे हुए है। शिक्षा से लेकर कार्यक्षेत्र में उन्हें तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। तंवर ने दिल्ली विश्वविद्यालय, जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय दिल्ली और इंदिरा गांधी नैशनल ओपन यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। वर्ष 2016 में नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) का विवाह उत्तर प्रदेश के बिजनौर निवासी निशा केशरवाल से हुआ। जो विवाह के बाद निशा तंवर नाम से जानी जाती हैं। निशा तंवर पेशे से वकील हैं और सामाजिक कार्यों में भी नवाब सतपाल तंवर (Nawab Satpal Tanwar) के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करती हैं। साथ ही निशा तंवर ने सिविल सर्विसेज की तैयारी भी की है और प्रारंभिक परीक्षा से लेकर मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करके साक्षात्कार भी दे चुकी हैं।

मामले में अभी कारवाही जारी

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भीम सेना के प्रमुख नवाब सतपाल तंवर को गिरफ्तार कर लिया है। बता दे कि आरोपी सतपाल तंवर पर आईपीसी की धारा 506 (आपराधिक धमकी), 509 (एक महिला का अपमान) और 153 ए ( अलग-अलग समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.” आरोपित ने नुपुर की जुबान काटने वाले को एक करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी। हालाँकि सतपाल तंवर की ऐसी बयानबाजी से कई लोगों ने उनके ऐसे बयान की निंदा की है, इस मामले में स्पेशल सेल ने नौ जून को एफआइआर दर्ज की थी। आरोपित नवाब सतपाल तंवर हरियाणा के गुरुग्राम स्थित खांडसा इलाके का रहने वाला है। फिलहाल पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है।