10वीं क्लास की छात्रा लापता, पेन लेकर आने के बहाने निकली स्कूल (School) से …

10वीं क्लास की छात्रा लापता, पेन लेकर आने के बहाने निकली स्कूल (School) से ...

0
443
School
Kajal

हिण्डौन, मोहन नगर स्थित होली एंजिल्स स्कूल (school) से काजल नाम की एक 10वीं क्लास की छात्रा स्कूल से गायब हो गई है। लापता छात्रा को उसकी मां ने सुबह 8 बजे स्कूल छोड़ा था। दो घंटे बाद ही वो पेन लेकर आने की बात कहकर स्कूल (school) से निकल गई और एक लेटर छोड़ के गई जो कि बाद में टीचर को उसके बैग में मिला है, लेटर में लिखा था कि ”मुझे मत ढूंढना, अब मैं हमेशा-हमेशा के लिए जा रही हूं।”

इस घटना के बाद स्कूल (school) प्रशासन में हडकंप मच गया और प्रिंसिपल ने कॉल कर लापता होने की बात बताई, छात्रा की मां और भाई का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। नईमंडी थाना पुलिस गुमशुदगी दर्ज कर बच्ची की तलाश में जुट गई है।

लेटर में लिखा मिला कि मुझे मत ढूंढना –
सचिन सिंह जो कि हिण्डौन की अग्रसेन विहार कॉलोनी के निवासी हैं उनका कहना है कि सोमवार सुबह करीब 8 बजे मां कमलेश देवी उसकी बहन काजल को मोहन नगर स्थित होली एंजिल्स स्कूल (school) में छोड़कर आई थी। करीब दो घंटे बाद स्कूल प्रिंसिपल ने कॉल कर काजल के स्कूल में बैग छोड़कर कही चले जाने के बारे में बताया। मां के साथ स्कूल पहुंचने पर काजल की इधर-उधर तलाश की। काजल के बैग में एक लेटर मिला। लेटर में लिखा मिला कि मुझे मत ढूंढना। मैं हमेशा-हमेशा के लिए जा रही हूं। इसे देख स्कूल प्रशासन में हडकंप मच गया और मां कमलेश देवी व भाई सचिन सिंह का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।

CCTV कैमरे में अकेले जाते दिखी छात्रा –
परिजनों ने रिश्तेदारों से भी काजल के बारे में जानकारी ली, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिलने पर नईमंडी थाने में रिपोर्ट पेश की। स्कूल (school) के सीसीटीवी कैमरे में छात्रा स्कूल के गेट से अकेली जाती हुई दिखाई दे रही है।

”मैं पढ़ना नहीं चाहती” घर पर भी मिला एक लेटर –
कमलेश देवी (छात्रा की मां) ने बताया कि काजल का एक लिखा हुआ लेटर घर पर मिला है। उसमें भी उसने हमेशा के लिए जा रही हूं। ”मुझे मत ढूंढना। जैसी बात लिखी है। साथ ही उसने यह भी लिखा है कि मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता। मैं पढ़ना नहीं चाहती। मेरी पढ़ाई पर होने वाले खर्चे को अब मेरे भाई की पढ़ाई पर करना। मेरी वजह से घर पर लड़ाई रहती है। अब मेरे घर से जाने के बाद ऐसा कुछ भी नहीं होगा। ”
जानकारी के मुताबिक छात्रा के पिता आर्मी में हैं, जो मौजूदा दिनों में झांसी के बबीना में तैनात हैं।

छात्रा के पास ना पैसे और ना ही मोबाइल –
काजल के स्कूल (school) में सोमवार से हाफ इयर-ली एग्जाम शुरू होना था। एग्जाम का पहला पेपर सुबह 10 बजे से था और सभी स्टूडेंट्स को सुबह 8 बजे स्कूल (school) बुलाया गया था। काजल की माँ का कहना है कि नाराजगी के बारे में उसने कभी कोई बात नहीं कही थी। काजल के पास कोई मोबाइल भी नहीं है और न ही वह घर से कोई रुपए लेकर आई, अब ऐसे हालत में हम उस से सम्पर्क भी नहीं कर सकते।