शहीद की पत्नी बोलीं- मेरे पति के बलिदान पर गर्व है, लेकिन मेरे बच्चों का क्या होगा…

0
779

गुरुवार शाम को जम्मू-कश्मीर पुलवामा जिले में बहुत बड़ा आत्मघाती आतंकी हमला हुआ। इस हमले में जम्मू-कश्मीर के सीआरपीएफ के 37 जवान शहीद हुए हैं. उनमें से एक जवान झारखंड के विजय सोरेंग भी हैं. विजय ￰सोरेंग गुमला के बसिया थाना इलाके के फरसामा गांव के निवासी थे. उनके शहीद होने की सूचना मिलने के बाद से गांव में गुरुवार रात से ही मातम का माहौल है.

शहीद जवान की पत्नी बिमला देवी ने अपना दुख प्रकट करते हुए कहा कि देश के लिए पति ने शहादत दी है, इस पर उन्हें गर्व है. लेकिन उनके चार बच्चे हैं उनकी आगे की जिंदगी कैसे चलेगी. उनकी पीएम से मांग है कि पाकिस्तान में घुसकर इस आतंकी हमले का बदला लें. बिमला की मांग है कि उनके पति का शव गुमला ना ले जाकर सिमडेगा लाया जाए, क्योंकि वह अपने बच्चों के साथ यहीं रहती है.

आपको बता दें कि शहीद विजय सोरेंग के चार बच्चे हैं. पत्नी बिमला इन बच्चों के साथ सिमडेगा के कोचेड़ेगा में रहती हैं. विजय आखिरी बार 3 फरवरी को घर आये थे और 7 फरवरी को वापिस  ड्यूटी पर लौट गये थे. शहीद के भाई संजय सोरेंग ने कहना हैं कि हम लोगों को अपने भाई पर गर्व है कि उन्होंने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी.