माँ की पुकार से आतंकवादी बेटे ने किया आत्मसमर्पण

0
642

 

माँ ने पुकारा तो लश्कर के आतंकवादी माजिद अरशिद ने कश्मीर में आतंकवाद को छोड़ आत्मसमर्पण कर दिया है.

माजिद ने सोशल मीडिया में अपनी तस्वीर पोस्ट की थी उसके बाद चर्चा में आए फुटबॉलर से लश्कर के आतंकवादी बने माजिद अरशिद ने अपनी माँ की पुकार सुनकर कश्मीर में अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है.

माजिद की मां ने मीडिया के माध्यम से गुरुवार को ही उसे वापस आने की अपील की थी इससे पहले माजिद फुटबॉल का खिलाड़ी था परन्तु बाद में माजिद इरशाद खान आतंकवादी संगठन में शामिल हो गया था. माजिद की माँ, दोस्त और परिवार वाले इससे बेहद चिंतित थे.

 

बताया जा रहा है कि यावर निसार शेरगुजरी आतंकवादी था और वह अनंतनाग में अगस्त महीने में सुरक्षाबलों द्वारा मुठभेड़ में मारा गया था तथा शेरगुजरी माजिद का दोस्त था.

 

माजिद ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि जब शौक ए शहादत हो दिल में, तो सूली से घबराना क्या I सोशल मीडिया पर चल रहे एक वीडियो में माजिद की मां आयशा उसके वापसी की गुहार लगा रही है.

 

औरत चाहे तो शैतान को इंसान बना सकती है

किसी महान सख्सियत ने कहा है कि औरत चाहे तो दुनिया में युद्ध ही नहीं हो. औरत चाहे माँ, बहिन, बीवी या फिर किसी भी रूप में ही क्यों न हो औरत अपने नेक इरादों से किसी शैतान को भी इंसान बना सकती है आयशा इसका तजा उदाहरण है.