एक बार फिर महिलाओं की हिम्मत देखने को मिली, उठाई सट्टेबाजों के खिलाफ आवाज

0
983

नई दिल्ली। अब सट्टेबाज़ों के खिलाफ आवाज उठने लग गयी है। इस आवाज को उठाने में महिलाओं का विशेष योगदान देखने को मिल रहा हैं। कुछ दिन पहले सोनीपत की एक छात्रा ने सोशल साईट फेसबुक पर पाेस्ट डाल गाेहाना राेड फ्लाई ओवर के पास सट्टा खेलने वालों द्वारा परेशान होने पर सट्टेबाज़ों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

प्रशासन द्वारा उचित कार्यवाही करने पर गोहाना की एक महिला ने भी सट्टेबाजों के खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी है। सोनीपत में पिछले कुछ दिनों से महिलाओं द्वारा हिम्मत दिखाते हुए जिले में सट्टेबाजों के विरुद्ध खुलकर आवाज उठने लगी है। गत दिवस सोनीपत व गोहाना की दो महिलाओं ने सट्टेबाजी के खिलाफ खुलकर आवाज उठाई उठाते हुए सट्टे का धंधा होने के आरोप लगाए।

महिलाओं का कहना हैं कि जब वे पढ़ने, नौकरी के लिए घर से निकलती हैं तो जगह-जगह ताश खेल रहे लोग उनके पर गंदे कमेंट करते हैं। जिनमें से तो कुछ लोगों ने शराब भी पी रखी होती है। पहली महिला ने फेसबुक के माध्यम से सोनीपत के पूर्व पार्षद को सिक्का काॅलोनी में जुआरियों व सट्‌टेबाजों के बारे में जानकारी दी थी।

मामले पर प्रशासन द्वारा कार्यवाही होते हुए देख गोहाना की महिला ने सोनीपत पहुंचकर उसी पार्षद के पास सट्‌टेबाजों के खिलाफ कार्रवाई करवाने की मांग की। महिला ने सट्टेबाजों पर आरोप लगाते हुए कहा कि गोहाना में भी जगह-जगह सट्‌टा चलता है। महिला ने इसकी शिकायत जब पुलिस को की, बाद में उस पर हमला भी हुआ। स्थानीय मीडिया के कारण मामला अब पुलिस तक पहुंचा। स्थानीय पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है।