महारानी कॉलेज छात्रसंघ कार्यालय उद्घाटन: छात्रा ने अतिथियों पर फेंकी काली स्याही, कॉलेज में तनाव का माहौल

0
612

छात्र राजनीति में अक्सर मनभेद के कारण विरोध देखने को मिलता है। ऐसा ही विरोध राजस्थान के जयपुर में महारानी कॉलेज में देखने को मिला है। यहां पर छात्रसंघ पदाधिकारियों के आपसी झगड़े के का परिणाम कार्यक्रम के मुख्य अतिथि और शिक्षको को भुगतना पड़ा।

हमेशा महारानी कॉलेज में जो भी कार्यक्रम किए जाते हैं वो एक स्तर के होते हैं, यही कारण है कि आज महारानी कॉलेज जयपुर का नाम पूरी दुनिया में है। आज का दिन कॉलेज के नाम पर शायद काला धब्बा साबित हो।

यह है मामला…

गुरुवार को महारानी कॉलेज जयपुर में छात्रसंघ पदाधिकारियों के कार्यालय उद्घाटन का कार्यक्रम था, यह कार्यक्रम अध्यक्ष, महासचिव, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव का होना था। लेकिन हुआ यह कि अध्यक्ष के खिलाफ तीनों पदों के पदाधिकारी ये कहकर खिलाफ हो गए कि उनके अतिथियों को मंच पर नहीं बैठाया गया और अकेले अध्यक्ष ने अपनी मनमानी करते हुए कार्यालय का उद्घाटन किया।  घटना के बाद मुख्य अतिथियों में राजाराम मील ने कॉलेज प्रशासन पर ही मिलीभगत का आरोप लगा दिया। राजकुमारी रूक्षमणि ने भी इस पर कहा कि उनको विरोध का पता था, लेकिन महारानी कॉलेज की विधार्थी   इस तरह से व्यवहार करेंगी ये उम्मीद नहीं थी।

इस कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी आने वाले थे…

यह विवाद कार्यालय उद्घाटन की तिथि तय होने के साथ ही शुरू हो गया था। शायद यही कारण रहा कि उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट कार्यक्रम में नहीं आए।  जब कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि कॉलेज पहुंचे तो विरोध करने वाले स्टूडेंट गेट पर भी रोककर अपना विरोध जाहिर किया।

मुख्य अतिथि के साथ पहुंचे समर्थक ने की शिक्षक के साथ बदतमिजी…

वहीं जब कार्यालय उद्घाटन का फीता काटने के लिए अतिथि पहुंचे तो उन पर एक छात्रा ने स्याही फेंक दी। जिसमें मुख्य अतिथि राजकुमारी रूक्षमणि, राजााराम मील, सुभाष मील के साथ-साथ प्रिंसिपल अल्पना कटेजा और अन्य शिक्षकों और पुलिस कर्मियों पर भी स्याही ￰गिरी।

प्रिंसिपल अल्पना कटेजा ने मामले गंभीरता से लेते हुए कहा है कि अनुशानसहीनता की कार्रवाई की जाएगी। लेकिन इस दौरान मुख्य अतिथि के साथ आए समर्थक ने शिक्षक के साथ बदतमिजी की जिस पर भी प्रिंसिपल ने सख्त कार्यवाही करने की बात कही है।