पंचायत का फैसला जिस घर में टॉयलेट नहीं उस घर में बेटियों की शादी नहीं

0
1873

हरियाणा में पंचायतों के अत्याचार तो बहुत सुने होंगे मगर अब एक पंचायत ने एक ऐसा फरमान सुनिए है जिसे सुनके आप खुश हो जायेगें। एक गांव पंचायत ने एक प्रस्ताव पारित किया है कि वे अपनी बेटियों की शादी ऐसे परिवारों में नहीं करेंगे जिनके घरों में शौचालय नहीं है। सरपंच धर्मपाल मुंडलिया ने बताया कि इस महीने की शुरुआत में गोडिकान गांव की पंचायत ने सर्वसम्मति से यह फैसला लिया. उन्होंने बताया कि पंचायत ने आठ जून को यह प्रस्ताव पारित किया था।प्रस्ताव में कहा गया है कि गांव के निवासी अपनी बेटियों और बहनों की शादी केवल उन परिवारों में करेंगे जिनके घरों में शौचालय बने होंगे.इस फैसले से सभी खुश है और मुख्यमंत्री खट्टर ने भी पंचायत को शुभकामना दी है। यह देखकर लगता है की अब गावों में भी धीरे-धीरे बदलाव आ रहा है।