नशे के खिलाफ आवाज उठाई तो गुंडों ने महिला को नग्न कर परेड करवाई

0
990

दिल्ली के नरेला में रहने वाली 33 साल की एक महिला की भीड़ ने लोहे की रॉड से बुरी तरह पिटाई की और उसके कपड़े भी फाड़ दिए। महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है जिसमें वह इस घटना के बारे में बता रही है।

कल जिस महिला ने नरेला मे डीसीडबल्यू को अवैध दारू बेचने के जगह बताई थी , आज उस महिला के साथ उन गुंडो ने हमला किया ओर उसको निवस्त्र कर पूरे एरिया मे घुमाया । साथ मे धमकी भी दी कि दिल्ली महिला अध्यक्ष का भी यही हाल करेंगे। क्या केंद्र सरकार की पुलिस का यही काम है । कोई भी महिला सुरक्षित नहीं है । ऐसा प्रतीत होता है कि दिल्ली पुलिस से लेकर बड़े से बड़े नेताओ को बराबर हफ्ता पहुचता है , तो क्यू करेंगे जनता कि सेवा…. जब उनको खाना है हराम का मेवा । #SpeakUpNow

Posted by Delhi Government Viral News. on Donnerstag, 7. Dezember 2017

महिला की गलती सिर्फ यह थी कि वह दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की अगुआई वाली टीम को नरेला पॉकेट 11 के एक घर में ले गई, जो आशा और राकेश का है। यहां से 350 शराब की बोतलें बरामद की गईं।साथ बुधवार रात एक घर में शराब की छापेमारी करने चली गई थी।

 

पुलिस के अनुसार नरेला की जेजे क्लस्टर की रहने वाली प्रवीन इलाके में शराब की गैरकानूनी बिक्री का विरोध कर रही थी। बुधवार रात डीसीडब्ल्यू चीफ स्वाति मालीवाल और उनकी टीम ने ‘फाइट द फीयर’ नाम के कैंपेन के तहत रात को नरेला में छापेमारी की।

 

पुलिस ने दंपति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। रोहिणी के डीसीपी रजनीश गुप्ता ने बताया, ”गुरुवार दोपहर को आशा समेत कई लोगों ने प्रवीन पर हमला कर दिया। उसका शारीरिक परीक्षण कराया गया है और आईपीसी की धारा 323, 342, 354, 354बी, 506 और 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की तलाश जारी है। उन्होंने कहा कि प्रवीन को गंभीर चोटें आई हैं। उन्होंने इस बात से इनकार किया कि उसे नग्न कर परेड कराई गई। उधर मालीवाल का कहना है कि गुरुवार को सुबह 11 बजे प्रवीन को उसके घर से बाहर निकालकर लोहे की छड़ों से पीटा गया। उसके कपड़े फाड़ दिए गए और नग्न कर परेड कराई गई।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डीसीडब्ल्यू के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट कर कहा, ”यह बेहद शर्मनाक है कि ऐसी घटना राजधानी में हुई। मैं एलजी से गुजारिश करता हूं कि मामले में हस्तक्षेप कर स्थानीय पुलिसवालों पर कार्रवाई करें”। वहीं एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती प्रवीन ने कहा, ”हमारी कॉलोनी में शराब खुलेआम बिकती है। कोई इसके खिलाफ आवाज नहीं उठाता। जब मैंने आवाज उठाने की कोशिश की तो उन्होंने मुझे यह सजा दी। प्रवीन के मुताबिक आरोपियों ने यह भी कहा कि वे स्वाति मालीवाल के घर जाकर उन्हें भी नग्न कर परेड कराएंगे।