धार्मिक संस्था में गुरु मंत्र दिलाने के बहाने नाबालिक लड़की का अपहरण करके बलात्कार किया गया

0
1163
गैंगरेप (gangrape)

यूपी। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के कोतवाली पिलखुवा क्षेत्र में धार्मिक संस्था में गुरु मंत्र दिलाने के बहाने एक नाबालिक लड़की के साथ अपहरण के बाद ￰बलत्कार की वारदात सामने आई है। दरिंदो ने पहले पीड़िता को एक धार्मिक संस्था में गुरु मंत्र दिलाने का झांसा देकर उसे अपने साथ मेरठ ले गए और उसके बाद मेरठ की जगह छात्रा को आरोपी द्वारा हाथरस ले जाया गया जहां पर छात्रा पेय पदार्थ में नशीली दवा मिलाकर जबरन तीन दिन तक छात्रा के साथ रेप किया गया और उसके बाद छात्रा को रेप करने वाले आरोपी और उसके साी गाजियाबाद ले गए , वहां पर भी छात्रा को एक महिला के घर में दो दिन तक बंधक बनाकर रखा गया और उसके साथ बलात्कार किया गया ।

किसी तरह ही हिम्मत दिखा कर छात्रा ने यह सारा मामला अपने परिजनों को बताया। इसके बाद परिजनों ने छात्रा को गाजियाबाद से बरामद कर लिया और उसके बाद पीड़ित के परिजनों ने कोतवाली पिलखुवा पहुंचकर पुलिस को इसके बारे में जानकारी दी। फ़िलहाल पुलिस रेप करने वाले आरोपी और इस वारदात में अंजाम देने वाले आरोपी के साथियों के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुट गई है ।

आपको बता दें कि पीड़िता के गांव के ही कुछ महिलाएं और युवक एक धार्मिक संस्था में प्रचार-प्रसार करने का कार्य करते हैं , उन्होंने नाबालिग छात्रा को बहला-फुसलाकर संस्था में गुरु मंत्र दिलाने और प्रचार-प्रसार की बात कही और अपने साथ मेरठ चलने के लिए बोल कर ले गये। गांव की महिलाओं और युवकों के द्वारा रास्ते में छात्रा को मेरठ ना ले जाकर हाथरस ले जाया गया जहां पर आरोपी पहले से ही उनका इंतजार कर रहा था । हाथरस जाने के बाद पीड़िता को नशीला पदार्थ पिलाकर उसकी शादी जबरन आरोपी हरीश से करा दी गयी ।

उसके बाद हरीश ने छात्रा को जबरदस्ती बंधक बनाकर तीन दिन तक उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। इतने से उसका मन नहीं माना उसके बाद छात्रा को संस्था की एक महिला के घर गाजियाबाद ले जाया गया। वहां पर भी छात्रा के साथ 2 दिन तक रेप किया गया । उसके बाद छात्रा ने किसी तरह मौका देख कर  पूरी घटना की जानकारी अपने परिजनों दी । इसके बाद परिजन गाजियाबाद पहुंचे और छात्रा को बरामद किया ।

फिलहाल इस पूरी घटना के बाद पुलिस ने आरोपी हरीश और उसके अन्य के खिलाफ रेप और अपहरण  की धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच में जुट गई है ।