इस मंदिर में प्रवेश करते ही पुरुष ले लेते हैं एक औरत का रूप, पढ़े खबर

0
803
मंदिर

आपने शयद ही सुना होगा कि भारत में एक ऐसा मंदिर भी है जो सिर्फ महिलाओं के लिए ही बना है और इसमें पुरुषों का प्रवेश निषेध हैं। इस मंदिर में किसी भी पुरुष को प्रवेश करने के लिए एक स्त्री का भेस धारण करना पड़ता है।

यह मंदिर केरल के कोल्लम जिले में स्थित हैं एवं इसका नाम श्री कोत्तानकुलांगरा देवी मंदिर हैं। यह मंदिर पूरे देश में इसलिए चर्चित है क्योंकि यहां पुरुषों का आना सख्त मना है। दरअसल इस मंदिर की परम्परा है कि इसमें पूजा करने के लिए केवल महिलाएं और किन्नर ही जा सकते हैं। अगर पुरुषों को इस मंदिर में पूजा करनी है तो उन्हें एक महिला के कपड़े पहनकर जाना पड़ता है।

यहां पर प्रत्येक वर्ष चाम्‍याविलक्‍कू त्यौहार मनाया जाता है। हर साल इस त्‍योहार में हज़ारों की संख्‍या में पुरुष भक्त आते हैं। पुरुषों को तैयार होने के लिए मंदिर परिसर में अलग से मेकअप रूम बनाया गया है। यहां पर मंदिर में प्रवेश के लिए पुरुष ना केवल महिलाओं की जैसे साड़ी पहनते हैं बल्कि जूलरी, मेकअप और बालों में गजरा भी लगाते हैं। इस उत्‍सव में सम्मिलित होने के लिए कोई उम्र सीमा नहीं रखी गई है।

यहां पर पुरुषों और महिलाओं के अलावा ट्रांसजेंडर भी इस पूजा करने आते हैं। मान्‍यता है कि इस मंदिर में स्‍थापित देवी की मूर्ति स्‍वयंभू है। ये मंदिर अपनी खास परंपरा और मान्‍यताओं के लिए दुनियाभर में मशहूर है और आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मंदिर के ऊपर कोई छत नहीं है। इस राज्‍य का यह एक ऐसा एकमात्र मंदिर है जिसके गर्भगृह के ऊपर छत या कलश नहीं हैं।